डायबिटीज नियंत्रित करने के रामबाण घरेलू उपाय

कल्याण आयुर्वेद- आज के दौर में ज्यादातर लोग डायबिटीज और मोटापा की समस्या से जूझ रहे हैं. जिसका मुख्य कारण है आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में तनाव लेना और खानपान की गलत आदत. डायबिटीज एक ऐसी बीमारी है जो आम होते जा रही है. डायबिटीज ऐसी बीमारी है जिसका तुरंत पता नहीं चलता है जब ब्लड में शर्करा की मात्रा अधिक हो जाती है और किसी अन्य बीमारी परेशान करने लगती है तो डायबिटीज पकड़ में आता है. डायबिटीज की बीमारी होने पर व्यक्ति को बार- बार पेशाब आता है, प्यास अधिक लगती है, भूख अधिक लगता है, बार-बार होंठ सूखने की समस्या हो जाती है और कहीं भी बैठने पर नींद आने लगती है. इन लक्षणों से डायबिटीज को पहचाना जा सकता है.
डायबिटीज नियंत्रित करने के रामबाण घरेलू उपाय
डायबिटीज को नियंत्रित करने के लिए ज्यादातर लोग एलोपैथी दवाओं का सहारा लेते हैं जो उन्हें तत्काल तो राहत दे देता है. लेकिन उससे अन्य बीमारियां होने की संभावना अधिक हो जाती है. ज्यादा दिनों तक डायबिटीज की दवाओं के सेवन करने से लिवर, किडनी, आंख इत्यादि पर अधिक प्रभाव पड़ता है. इसलिए प्रयास करना चाहिए कि डायबिटीज को प्राकृतिक उपचार एवं खान-पान में परहेज कर इसे नियंत्रित रखना स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है.
डायबिटीज को नियंत्रित करने के रामबाण घरेलू उपाय-
1 .बांस के पत्ते-
यदि आपका शुगर लेवल अधिक हो गया है तो उसे सामान्य अवस्था में लाने के लिए बांस आपकी मदद कर सकता है. इसके लिए 50 ग्राम बांस के पत्ते लेकर उसे 600 मिलीलीटर पानी में उबालें. जब पानी 70 मिलीलीटर के लगभग रह जाए. तब उसे आंच से उतारकर ठंडा करके छानकर पीएं. इसके नियमित पीने से शुगर लेबल जल्दी सामान्य अवस्था में आ जाता है.
2 .ग्रीन टी-
डायबिटीज के मरीजों के लिए ग्रीन टी पीना फायदेमंद होता है क्योंकि ग्रीन टी में उच्च मात्रा में पॉलीफेनॉल मौजूद होता है. यह एक सक्रिय anti-oxidant है जो ब्लड शुगर को कम करने में मददगार होता है.
3 .सहजन की पत्तियां-
सहजन की पत्तियां, छाल,फल आदि का आयुर्वेद में सदियों से प्रयोग किया जाता रहा है. इसके प्रयोग से कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं. लेकिन यदि आप डायबिटीज से परेशान है तो सहजन की पत्तियों का रस डायबिटीज को नियंत्रित करने में मददगार होता है. इसके लिए पत्तियों को तोड़कर रस निकाल लें और सुबह खाली पेट इसका सेवन करें. इससे शुगर लेवल नियंत्रित रहेगा.
4 .मेथी-
मसाले के रूप में इस्तेमाल होने वाला मेथी शुगर लेवल को नियंत्रित करने में काफी मददगार होता है. इसके लिए मेथी को तवे पर भून लें और इसे पीसकर पाउडर बना लें और सुरक्षित रख लें. इस पाउडर को एक चम्मच की मात्रा में सुबह खाली पेट नियमित सेवन करने से बढ़ा हुआ ग्लूकोस नियंत्रित होता है.

Post a Comment

0 Comments