किसी चमत्कारिक औषधि से कम नहीं है सोठ, जानें फायदे और इस्तेमाल करने के तरीके

कल्याण आयुर्वेद- अदरक का इस्तेमाल भोजन के स्वाद को बढ़ाने के लिए किया जाता है. लेकिन अदरक सिर्फ भोजन के स्वाद को ही नहीं बढ़ाता है बल्कि कई औषधीय गुण अदरक में मौजूद होते हैं. लेकिन हर मौसम में अदरक उपलब्ध होना संभव नहीं है. इसलिए अदरक को सुखाकर रखा जाता है जिसे सोठ कहते हैं. इसका इस्तेमाल आयुर्वेद में कई रोगों को दूर करने के लिए किया जाता है. सोठ का चूर्ण आप 1 साल तक सुरक्षित रख सकते हैं.
किसी चमत्कारिक औषधि से कम नहीं है सोठ, जानें फायदे और इस्तेमाल करने के तरीके
सोठ के फायदे-
सूजन को करता है दूर-
यदि आप गठिया के दर्द और सूजन से परेशान है तो सोठ आपके लिए औषधि से कम नहीं है. उसमें मौजूद एंटी इनफ्लेमेट्री गुण के कारण यह सूजन का प्रभावी इलाज कर सकता है. गठिया की सूजन के अलावा आपके शरीर में लगी चोट की सूजन को दूर किया जा सकता है. इसके लिए आप एक लीटर पानी में 4-5चम्मच सोठ का पाउडर को मिलाएं और इसे उबालें. इस उबले हुए सोठ में से पानी का नियमित रूप से सेवन करें. आपको सूजन से छुटकारा दिलाने में मददगार होगा. इसके अलावा जोड़ों के दर्द होने पर भी आप सोठ के पाउडर को पेस्ट बनाकर प्रभावित जगह पर लगा सकते हैं. यह जोड़ों के दर्द से राहत दिलाता है.
सीने में दर्द-
अपने औषधीय गुणों के कारण सोठ विभिन्न प्रकार की समस्याओं के लिए जाना जाता है. सोठ के इन्हीं गुणों में से एक है सीने का दर्द का उपचार करना. सोंठ पाउडर का उपयोग करके आप सीने के दर्द को दूर कर सकते हैं. सीने का दर्द अक्सर घातक नहीं होता है लेकिन इस दर्द को सामान्य भी नहीं माना जा सकता है इसके लिए आपको चिकित्सक से सलाह लेनी चाहिए. लेकिन सोठ से आप छाती के दर्द का घरेलू उपचार कर सकते हैं. इसके लिए आप कच्चे नारियल पानी में सोंठ का पाउडर मिलाकर पिने से सीने के दर्द से राहत मिल सकती है. इसके अलावा नारियल के फायदे और सोंठ के फायदे आपके शरीर को अतिरिक्त लाभ दिला सकते हैं.
पाचन के लिए-
सोठ का इस्तेमाल पाचन के लिए भी काफी लाभकारी होता है. कब्ज, पेट दर्द, एसिडिटी और खट्टी डकार से परेशान लोगों के लिए बेहद फायदेमंद होता है. इसके लिए एक ग्लास दूध में चुटकी भर सोठ मिलाकर रात को सोने से पहले पीना फायदेमंद होता है.

Post a Comment

0 Comments