मधुमेह नियंत्रित करने के 100% कारगर घरेलू उपाय

कल्याण आयुर्वेद- मधुमेह यानी डायबिटीज आज के समय में सबसे ज्यादा फैलने वाली बीमारियों में शामिल है. आज के समय में हर तीसरा व्यक्ति मधुमेह का शिकार है और इस वजह से उन्हें खानपान पर नियंत्रण रखने की जरूरत होती है. मधुमेह महिला व पुरुषों में सामान्य रूप से होने वाली बीमारी है. मधुमेह को नियंत्रण में रखने के लिए खानपान का विशेष ध्यान रखना जरूरी होता है क्योंकि यह आपके शरीर में इंसुलिन की मात्रा को घटाने बढ़ाने का काम करता है. इसलिए मधुमेह रोगियों को खानपान का विशेष ध्यान रखना पड़ता है.
मधुमेह नियंत्रित करने के 100% कारगर घरेलू उपाय
मधुमेह चयापचय संबंधी बीमारियों का एक समूह है जिसमें खून में लंबे समय तक शर्करा का स्तर होता है. उच्च रक्त शर्करा के लक्षणों में अक्सर पेशाब अधिक होता है, प्यास की बढ़ोतरी होती है और भूख में भी बढ़ोतरी होती है. यदि अन उपचारित छोड़ दिया जाए यानी इसका इलाज न किया जाए तो मधुमेह कई जटिलताओं का कारण बन सकता है. तीव्र जटिलताओं में मधुमेह केटोएसिडोसिस, नॉनकेटोटिक, हाईप्रोसपोलर कौमा या मौत भी शामिल हो सकती है. गंभीर दीर्घकालिक जटिलताओं में हृदय रोग, स्ट्रोक, क्रोनिक किडनी की विफलता पर अल्सर और आंखों को नुकसान हो सकते हैं.
मधुमेह को नियंत्रित करने की कारगर घरेलू उपाय-
1 .250 ग्राम इंद्रजौ, 250 ग्राम बादाम और 250 ग्राम भुने हुए चने को पीसकर पाउडर बना लें और सुरक्षित रख लें. अब इसमें से एक चम्मच की मात्रा में सुबह खाली पेट नियमित सेवन करें. इसके सेवन से बढ़े हुए शुगर लेबल नियंत्रण में आने लगते हैं.
2 .मधुमेह को नियंत्रित करने में मेथी काफी मददगार होता है. इसके लिए मेथी को अंकुरित करके छाया में सुखा लें और पीसकर पाउडर बना लें. अब खाना खाने से पहले 5 ग्राम पाउडर सुबह-शाम लेने से मधुमेह को नियंत्रित करने में मदद मिलती है.
3 .सदाबहार के 5 गुलाबी फूल सादे पानी के साथ भोजन करने से पहले सुबह- शाम सेवन करें. इससे आपका मधुमेह रोग नियंत्रित रहेगा.
4 .मधुमेह को नियंत्रित रखने के लिए टमाटर काफी मददगार होता है. इसके लिए आप टमाटर को नियमित सलाद के तौर पर सेवन कर सकते हैं.
5 .जामुन के दिनों में काला नमक के साथ जामुन का सेवन करना मधुमेह रोगियों के लिए काफी फायदेमंद होता है. इसके अलावा आप जामुन के पत्ते को भी मधुमेह को नियंत्रित करने के काम में ला सकते हैं. इसके लिए सुबह खाली पेट जामुन के 4-5 कोपल पत्ते चबाकर खाएं.
6 .करेले का जूस डायबिटीज के दोनों प्रकारों के लिए काफी फायदेमंद होता है. यह यूरिन और ब्लड में शुगर को नियंत्रित करता है. करेले का जूस न केवल ग्लूकोज की मात्रा पर कंट्रोल करता है बल्कि यह पेट की कई बीमारियों के लिए भी फायदेमंद होता है.
7 .ग्रीन टी डायबिटीज के रोगियों के लिए फायदेमंद होता है. इसमें कार्बोहाइड्रेट और कैलोरी की मात्रा बहुत कम होती है. ग्रीन टी में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो किसी भी तरह के संक्रमण से बचाते हैं जो कि हृदय और डायबिटीज कि दोनों प्रकार में बहुत लाभदाई होते हैं.
यह जानकारी अच्छी लगे तो लाइक, शेयर करें और स्वास्थ्य से जुड़ी जानकारियां रोजाना पाने के लिए इस चैनल को अवश्य फॉलो कर लें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments