सेनीटाइजर का इस्तेमाल सावधानी से करें- मोबाइल साफ कर रहा व्यक्ति 35 फ़ीसदी जला

कोरोना वायरस से बचाव के लिए लोग साफ- सफाई का विशेष ध्यान रख रहे हैं तो वहीं बिना मास्क बाहर जाने से बच रहे हैं. इससे बचने के लिए सैनिटाइजर का भी खूब प्रयोग किया जा रहा है. मगर जरा सी लापरवाही बड़े हादसे का कारण बन सकती है क्योंकि सैनिटाइजर में अल्कोहल होने के कारण यह अग्निकांड के मामले भी सामने आ रहे है.
सेनीटाइजर का इस्तेमाल सावधानी से करें- मोबाइल साफ कर रहा व्यक्ति 35 फ़ीसदी जला
जाने विस्तार से-
हरियाणा के रेवाड़ी में अपने घर के रसोई में खड़ा होकर एक 44 वर्षीय व्यक्ति सैनिटाइजर से मोबाइल स्क्रीन की सफाई कर रहा था. उसकी पत्नी चूल्हे पर खाना बना रही थी. अचानक सैनिटाइजर ने आग पकड़ ली और व्यक्ति का शरीर 35 फ़ीसदी तक जल गया. उसके परिजनों ने आनन-फानन में घायल को लेकर रविवार रात दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल पहुंचे. जहां उपचार चल रहा है. लेकिन उसकी किस्मत अच्छी थी कि उसकी जान बच गई. अन्यथा सैनिटाइजर की वजह से उसका पूरा शरीर आग की चपेट में आ सकता था.
वरिष्ठ डॉक्टर महेश मंगल ने बताया कि लोग अल्कोहल मिश्रित होने के चलते यह बड़ा नुकसान कर सकता है. रेवाड़ी निवासी घायल रसोई घर में खड़ा होकर सैनिटाइजर से चाबी, मोबाइल की स्क्रीन आदि साफ कर रहा था ताकि कोरोना संक्रमण का खतरा न हो. इसी बीच सैनिटाइजर उसके कुर्ते पर गिर गया. ज्यादा मात्रा में गिरने की वजह से सैनिटाइजर में पाए जाने वाले अल्कोहल की वजह से फ्यूम बन गया और किचन में जल रहे चूल्हे की वजह से आग लग गई.
कितना खतरनाक होता है सैनिटाइजर-
डॉक्टरों के अनुसार सैनिटाइजर में 75% तक अल्कोहल होता है और यह काफी ज्वलनशील होता है. इसलिए इस्तेमाल के दौरान सावधानी बरतना जरूरी है. हर चीज को सैनिटाइज करने की जरूरत नहीं है. हाथ को सैनिटाइज करें क्योंकि इसी से नाक और मुंह छुआ जाता है. सैनिटाइजर को बच्चे से दूर रखें. मुंह में जाने से यह जहर भी हो सकता है. घर में रहते हुए इसके इस्तेमाल से बचें. सैनिटाइजर की जगह पानी और साबुन का इस्तेमाल करें.

Post a Comment

0 Comments