इन 3 गंभीर बीमारियों को जड़ से खत्म करता है बेल, जानें इस्तेमाल करने के तरीके

कल्याण आयुर्वेद- बेल के पेड़ के बारे में तो आप जानते ही होंगे. यह बहुत ही आसानी से उपलब्ध हो जाता है. बेल का प्रयोग कई तरह के काम में लिया जाता है. हिंदू धर्म में भगवान शिव- पार्वती की पूजा के लिए बेलपत्र और बेल का उपयोग किया जाता है. अनेक लोग बेल का शरबत भी पीना बहुत पसंद करते हैं. इसके अलावा भी बेल का इस्तेमाल कई कामों के लिए किया जाता है.
इन 3 गंभीर बीमारियों को जड़ से खत्म करता है बेल, जानें इस्तेमाल करने के तरीके
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि बेल के फल में टैनिन, फास्फोरस, फाइबर, कैल्शियम, प्रोटीन, आयरन जैसे उपयोगी खनिज मौजूद होते हैं. इसके अलावा बेल में विटामिन बी और विटामिन सी प्रचुर मात्रा में पाई जाती है. बेल वास्तव में एक जड़ी बूटी है जो हमारे स्वास्थ्य के लिए अत्यंत उपयोगी है.
इन 3 गंभीर बीमारियों को जड़ से खत्म करता है बेल, जानें इस्तेमाल करने के तरीके
1 .बेल के कोमल पत्तों का रस दो चम्मच निकाल कर नियमित रूप से खाली पेट सुबह के समय पीने से पेशाब की चीनी धीरे-धीरे दूर हो जाती है. बीच-बीच में चेकअप कराते रहें. जब तक पूर्ण रूप से चीनी आना बंद ना हो जाए इसका प्रयोग जारी रखें. कुछ ही दिनों में यह समस्या दूर हो जाती है.
2 .पेट के विकारों में बेल का फल अचूक दवा के रूप में काम करता है. बेल के फल नियमित रूप से सेवन करने से कब्ज की समस्या जड़ से समाप्त हो जाता है. बेलफल उदर की स्वच्छता के लिए बहुत फायदेमंद होता है. साथ ही आतों को साफ कर उन्हें ताकत देता है.
इन 3 गंभीर बीमारियों को जड़ से खत्म करता है बेल, जानें इस्तेमाल करने के तरीके
3 .किडनी से संबंधित विकारों के लिए बेल को सर्वोत्तम माना जाता है. यह शरीर से विषाक्त पदार्थों की निकासी कर किडनी के कार्य को उत्तेजित करता है और उससे संबंधित विकारों से भी छुटकारा दिलाता है. गुनगुने पानी में एक चम्मच सूखे बेल के पत्तों के चूर्ण को मिलाएं और इसका सेवन नियमित रूप से करें. इसका उपयोग करने से आपको किडनी की कोई बीमारी नहीं होगी.
नोट- यह पोस्ट शैक्षिक उद्देश्य से लिखा गया है. किसी भी प्रयोग से पहले आप किसी जानकार डॉक्टर की सलाह लें. जानकारी अच्छी लगी हो तो लाइक शेयर करें और स्वास्थ्य से जुड़ी जानकारियां रोजाना पाने के लिए इस चैनल को अवश्य फॉलो कर लें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments