डायबिटीज के मरीजों को आहार में शामिल करना चाहिए ये 5 सब्जियां, नियंत्रित रहेगा ब्लड शुगर

कल्याण आयुर्वेद- आजकल डायबिटीज एक आम बीमारी होते जा रही है. जिससे कई महिला व पुरुष प्रभावित हो रहे हैं. डायबिटीज में खानपान का विशेष ध्यान रखना आवश्यक हो जाता है क्योंकि खानपान से डायबिटीज सीधा प्रभावित होता है.
डायबिटीज के मरीजों को आहार में शामिल करना चाहिए ये 5 सब्जियां, नियंत्रित रहेगा ब्लड शुगर
कुछ सब्जियां ऐसी होती है जो कार्बोहाइड्रेट से भरपूर होती है और शरीर में एनर्जी बढ़ाने मैं मदद करती है. लेकिन यह डायबिटीज में ब्लड शुगर लेवल को बढ़ा सकती है. हमारे डाइट का ब्लड शुगर लेवल पर सीधा प्रभाव पड़ता है. ऐसे में डायबिटीज के मरीजों को डाइट का ध्यान रखना काफी जरूरी हो जाता है. डायबिटीज रोगियों को सब्जियों को चुनाव में भी काफी सावधानी से करना पड़ता है. हालांकि ज्यादातर सब्जियां हेल्दी होती है. लेकिन हमें वह सब्जी चुननी है जो शुगर लेवल को प्रभावित ना करें, साथ ही डायबिटीज को नियंत्रित करने में मददगार हो, ब्लड शुगर लेवल को मैनेज करने के लिए हमें बिना स्टार्च वाली सब्जियों का सेवन करना चाहिए. डायबिटीज रोगियों को सब्जियों का सेवन करते समय हमेशा सावधान रहने की जरूरत होती है.
डायबिटीज में ब्लड शुगर लेवल को मेंटेन में रखने के लिए हेल्दी लाइफ़स्टाइल और अच्छा खानपान का होना आवश्यक हो जाता है. डायबिटीज के रोगियों में ब्लड शुगर बहुत आसानी से बढ़ जाता है. ऐसे में उन्हें अपने खानपान का विशेष ख्याल रखना जरूरी हो जाता है.
मधुमेह में ऐसे सब्जियां खाना जिसमें स्टार्च होता है. आपके लिए बेहद ही नुकसानदायक हो सकती है. जैसे- मीठी चीजें खाने से आपका शुगर लेवल बढ़ जाता है वैसे ही स्टार्च खाने से भी आपका शुगर लेवल बढ़ सकता है. क्योंकि स्टार्च वाली सब्जियों में कार्बोहाइड्रेट अधिक मात्रा में पाया जाता है.
आज हम आपको  ऐसी सब्जियों के बारे में बताने जा रहे हैं. जिसका सेवन करना डायबिटीज के रोगियों के लिए फायदेमंद हो सकती है.
1 .भिंडी-
डायबिटीज के मरीजों को आहार में शामिल करना चाहिए ये 5 सब्जियां, नियंत्रित रहेगा ब्लड शुगर
भिंडी में स्टार्च नहीं होता है. इसलिए भिंडी का सेवन करना डायबिटीज मरीजों के लिए लाभदायक होता है. भिंडी में घुलनशील फाइबर होता है. इसलिए यह आसानी से पच जाती है और शुगर को  नियंत्रित रख सकती है. भिंडी में मौजूद तत्व इंसुलिन के उत्पादन को पढ़ा सकते हैं. इसके अलावा भिंडी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स शरीर को बीमारियों से बचा सकते हैं. 
2 .गाजर-
डायबिटीज के मरीजों को आहार में शामिल करना चाहिए ये 5 सब्जियां, नियंत्रित रहेगा ब्लड शुगर
गाजर को सलाद में शामिल  करना डायबिटीज मरीजों के लिए  फायदेमंद होता है क्योंकि गाजर फाइबर का अच्छा स्रोत होता है. इसलिए यह आपके खून में बहुत धीरे-धीरे शुगर रिलीज करता है. गाजर में विटामिन ए की मात्रा भरपूर होती है और ढेर सारे फायदेमंद मिनरल्स भी मौजूद होते हैं. डायबिटीज के मरीजों के लिए पकाकर खाने से ज्यादा बेहतर कच्चा गाजर खाना है. गाजर के सेवन से डायबिटीज को नियंत्रित करने में मदद मिलती है.
3 .ब्रोकली-
डायबिटीज के मरीजों को आहार में शामिल करना चाहिए ये 5 सब्जियां, नियंत्रित रहेगा ब्लड शुगर
ब्रोकली में भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है. इस वजह से यह डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद होता है. फाइबर की उच्च मात्रा के अलावा ब्रोकली में कैलोरीज बहुत कम होती है और पर्याप्त मात्रा में विटामिन ए व विटामिन सी मौजूद होता है. ब्रोकली का सेवन करने से यह वजन घटाने में भी मददगार होता है.
4 .पत्ता गोभी-
डायबिटीज के मरीजों को आहार में शामिल करना चाहिए ये 5 सब्जियां, नियंत्रित रहेगा ब्लड शुगर
पत्ता गोभी का सेवन करना डायबिटीज मरीजों के लिए फायदेमंद हो सकती है क्योंकि पत्ता गोभी लो स्टार्च वाली सब्जी है पत्ता गोभी में एंटीऑक्सीडेंट और विटामिंस की मात्रा अधिक होती है. इसलिए कई तरह से खाने में इस्तेमाल किया जाता है. पत्ता गोभी में फाइबर प्रचुर मात्रा में होता है. इसलिए डायबिटीज के मरीजों को इसका सेवन करना फायदेमंद होता है. डायबिटीज के मरीज पत्ता गोभी को काटकर सलाद के रूप में या सब्जी के रूप में भी सेवन कर सकते हैं.
5 .खीरा-
डायबिटीज के मरीजों को आहार में शामिल करना चाहिए ये 5 सब्जियां, नियंत्रित रहेगा ब्लड शुगर
खीरा में आसपास बिल्कुल नहीं होता है. खीरा खाने से ब्लड शुगर नियंत्रण में रखा जा सकता है क्योंकि यह फाइबर से भरपूर होता है. गर्मियों में खीरा खाना सेहत के लिए बेहतर होता है क्योंकि खीरे में पानी की मात्रा बहुत अधिक होती है. इसके अलावा खीरे में 90% से ज्यादा वजन पानी का होता है जो पेट के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है.
नोट- यह पोस्ट शैक्षणिक उद्देश्य से लिखा गया है यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है इसलिए अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments