लॉक डाउन- 5 की तैयारी हुई शुरू, हॉटस्पॉट में बढ़ेगी सख्ती, जानें क्या मिल सकती है छूट

डेस्क- कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से पूरे देश में लॉक डाउन की स्थिति है. लॉक डाउन के चौथे चरण की रविवार को अवधि समाप्त होने के मद्देनजर सरकार ने लॉक डाउन-5 की तैयारी शुरू कर दी है. इस सिलसिले में कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने राज्यों के मुख्य सचिवों और स्वास्थ्य सचिवों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस की.
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित 13 शहरों के नगर आयुक्त, जिला मजिस्ट्रेट और एसपी को शामिल कर सरकार ने साफ संकेत दिया है कि लॉक डाउन- 5 के दौरान मुख्य जोर कोरोना के बड़े हॉटस्पॉट पर रहेगा और देश के बाकी हिस्सों में पहले से छूट बढ़ाई जा सकती है.
कोरोना संक्रमण के मामले की तेजी से बढ़ते संख्या सरकार के लिए बड़ी चिंता की वजह बनी हुई है. लेकिन राहत की बात यह है कि कोरोना के 70 फीसद से अधिक मामले 13 शहरों तक सीमित है. आपको बता दें कि यह शहर मुंबई, चेन्नई, दिल्ली, अहमदाबाद, ठाने, पुणे, हैदराबाद, कोलकाता, इंदौर, जयपुर, जोधपुर, चैंगलपट्टू, तिरुवल्लूर है. जाहिर है इन शहरों में यदि कोरोना के मामले का सही तरीके से प्रबंधन किया जाए तो इसको देश के बाकी हिस्से में फैलने से रोका जा सकता है.
सूत्रों के मुताबिक कैबिनेट सचिव ने बैठक के दौरान शहरों में कोरोना के रोकने के लिए किए प्रयासों की समीक्षा की इन शहरों में करोड़ों के बड़े कलेक्टर बनने और उसे रोक पाने में स्थानीय प्रशासन की सीमाओं की जानकारी ली. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में इन शहरों में प्रति लाख जनसंख्या पर हो रही कोरोने की जांच उस में पॉजिटिव पाए जाने वाले मरीजों की संख्या कोरोना के मामले को दुगना में लगने वाले समय और इससे होने वाली मृत्यु दर का विस्तृत प्रेजेंटेशन किया गया.
कैबिनेट सचिव ने कहा कि इन शहरों में बन रहे कोरोना के कलस्टर को रोकने के लिए पहले ही गाइडलाइंस जारी की जा चुकी है और उसे पूरी कड़ाई के साथ लागू रखने की जरूरत है. इसके तहत स्थानीय प्रशासन रेड जोन इलाके को पूरी तरह से सील करने के साथ ही घर-घर सर्वे और अधिक से अधिक लोगों की जांच सुनिश्चित करें.
13 शहरों के अलावा देश के बाकी हिस्सों के लिए भी कैबिनेट सचिव ने पूरी सतर्कता बरतने का निर्देश दिया है. खासकर उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल और उड़ीसा जैसे राज्यों में जहां बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर लौट रहे हैं और उनमें से कई कोरोना से संक्रमित ही मिल रहे हैं. आईएमसीआर इन सभी प्रवासी मजदूरों के अधिक से अधिक टेस्ट कराने के लिए गाइडलाइंस जारी कर चुका है. इसमें एक साथ 50 सैंपल का पुल टेस्ट भी शामिल है.
हालांकि, लॉक डाउन- 5 को लेकर सीधे तौर पर कोई चर्चा नहीं हुई है. इस पर गृह मंत्रालय द्वारा शनिवार तक फैसला लिए जाने की उम्मीद है. लेकिन कैबिनेट सचिव की बैठक में 70 फीसद केस वाले 13 शहरों के स्थानीय अधिकारियों के शामिल करना इस बात का संकेत देता है कि लॉक डाउन- 5 में हॉटस्पॉट वाले इलाके में प्रतिबंधों पर पूरा जोर दिया जाएगा. कुछ सेवाएं पूरे देश में प्रतिबंधित रह सकती है. लेकिन अन्य सेवाओं को शारीरिक दूरी, मास्क और अन्य शर्तों के साथ छूट दी जा सकती है.
स्रोत- बीएनएन भारत न्यूज़.

Post a Comment

0 Comments