कम उम्र में सेक्स करने से लड़कियों को क्या होते हैं नुकसान, जरूर पढ़ें

कम उम्र में सेक्स करने से लड़कियों को क्या होते हैं नुकसान, जरूर पढ़ें
कल्याण आयुर्वेद- दुनिया में हर एक काम के फायदे होते हैं तो नुकसान भी होते हैं. ठीक ऐसे ही सेक्स करना सेहत के लिए फायदेमंद होता है तो इसका कुछ नुकसान भी होता है. एक उम्र के अनुसार यदि सेक्स किया जाता है तो यह स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद माना जाता है क्योंकि यह एक एक्सरसाइज की तरह होता है. साथ ही सेक्स से कई तरह के हार्मोन्स रिलीज होते हैं जो स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होते हैं.
लेकिन अगर कम उम्र में ही लड़कियां सेक्स कर लेती है तो इससे बहुत ज्यादा नुकसान होने की संभावना होती है. साथ ही छोटी उम्र में लोगों को इसके बारे में अधिक जानकारी भी नहीं होती है. इसलिए शारीरिक संबंध बनाने से उनके शरीर को क्या-क्या नुकसान होने होने जा रहा है इसकी उन्हें पता भी नहीं होता है.
आज हम आपको कम उम्र में सेक्स करने से लड़कियों में क्या नुकसान होता है, बताने की कोशिश करेंगे.
1 .लड़का हो या लड़की यदि कोई कम उम्र में शारीरिक संबंध सेक्स बनाता है तो इसका सबसे बुरा प्रभाव उसके शारीरिक विकास पर पड़ता है और कम उम्र में सेक्स करने से शारीरिक विकास रुक जाता है और फिर कई सारी दवाइयों के सेवन करने के बाद भी शरीर का विकास सही से नहीं हो पाता है. इसलिए कभी भी कम उम्र में सेक्स करने के बारे में सोचना भी नहीं चाहिए.
2 .कम उम्र में सेक्स करने से सबसे बड़ा खतरा गर्भावस्था का होता है क्योंकि अगर कोई लड़की कम उम्र में ही सेक्स करना शुरू कर देती है तो गर्भावस्था का शिकार हो जाती है तो उसे कई सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है.
कम उम्र में सेक्स करने से लड़कियों को क्या होते हैं नुकसान, जरूर पढ़ें
3 .कई सारे लोगों को कम उम्र में सेक्स करने की पूरी जानकारी नहीं होती है फिर भी वह सेक्स कर लेते हैं. जिसकी वजह से उनके प्राइवेट पार्ट में इन्फेक्शन हो जाता है और साथ ही शरीर में कई तरह की बीमारियां होने लगती है. इसलिए अगर आप बीमारियों से बचे रहना चाहते हैं तो कम उम्र में सेक्स करने के बारे में सोचा ही नहीं चाहिए.
4 .हम सभी अच्छी तरह से जानते हैं कि कम उम्र में हमारा शरीर परिपक्व नहीं होता है. इसलिए शरीर के साथ किसी तरह की छेड़छाड़ करने पर शरीर को नुकसान पहुंचती है.
5 .रिसर्च के अनुसार कम उम्र में सेक्स करने वाली महिलाओं में गर्भाशय ग्रीवा कैंसर का खतरा अधिक हो जाता है. कम उम्र की महिलाओं पर किए गए शोध में शोधकर्ताओं ने पाया है कि संबंध बनाने के बाद इन महिलाओं के शरीर में यौन संचारित विषाणु की संख्या अधिक हो गई जो सर्वाइकल कैंसर का कारण बनती है. इससे साबित होता है कि कम उम्र में सेक्स करना नुकसानदायक है.
6 .कम उम्र में सेक्स करने से लड़की और लड़कियों की वर्जिनिटी खत्म हो जाती है. वहीं एक बार सेक्स की आदत पड़ने के बाद बार-बार उनका दिमाग सेक्स की ओर जाता है, जिसके वजह से लड़के अधिक आक्रामक प्रवृत्ति के हो जाते हैं. अक्सर पाया जाता है कि बलात्कार और रास्ते चलते लड़की का यौन शोषण करने में कम उम्र के लड़के भी शामिल होते हैं. इसके अलावा कम उम्र में शारीरिक संबंध बनाने के कारण लड़कियों के स्तन और नितंब बड़े हो जाते हैं और कई बार लड़कियां कम उम्र में ही मोटापे की शिकार हो जाती है.
7 .माना जाता है कि कोई भी बात को लंबे समय तक छुपा कर रखना मुश्किल है और वह जल्द ही लोगों के बीच फैल जाती है. शारीरिक संबंध के मामले में भी ऐसा ही है कम उम्र में सेक्स करने वाले लोग सिर्फ एक बार ही सेक्स नहीं करते हैं बल्कि बार-बार यौन क्रिया करते हैं, जिसकी वजह से उनके शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक व्यवहार पर भी असर पड़ता है. कुछ लक्षण तो ऐसे होते हैं जिसके आधार पर आसानी से पता चल जाता है कि लड़का और लड़की वर्जिन नहीं है. एक बार समाज में यह हरकत आप के बारे में पता चलने पर आप अपना मान- सम्मान, इज्जत खो बैठती है और काफी बदनामी होती है.
कम उम्र में सेक्स करने से लड़कियों को क्या होते हैं नुकसान, जरूर पढ़ें
8 .माना जाता है कि कम उम्र में शारीरिक संबंध बनाने वाले लड़के- लड़कियां उम्र से पहले बड़े हो जाते हैं. इसका मतलब यह है कि शारीरिक संबंध उनकी एक जरूरत बन जाती है. जिसके कारण वे शारीरिक संबंध बनाने के लिए मौके की तलाश में रहते हैं. इसकी वजह से उनकी पढ़ाई- लिखाई भी पूरी तरह बाधित हो जाती है. कभी-कभी में स्कूल के बहाने कहीं दूसरे जगह चले जाते हैं और अपनी पढ़ाई पर फोकस नहीं कर पाते हैं. इसके अलावा यह भी पाया गया है कि कम उम्र में ही शारीरिक संबंध का अनुभव ले चुके लड़के- लड़कियां गंदी गालियां और गंदे शब्दों का भी प्रयोग सबसे ज्यादा करते हैं. जिससे उनके दोस्तों पर भी बुरा असर पड़ सकता है.
नोट- कम उम्र में लड़के- लड़कियों को शारीरिक संबंध बनाना शारीरिक, मानसिक और सामाजिक किसी भी उद्देश्य से सही नहीं होता है. यह पोस्ट शैक्षणिक उदेश्य से लिखा गया है. किसी व्यक्ति विशेष से कोई लेना- देना नहीं है.
धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments