इमली का बीज नही है बेकार, जानें चमत्कारी फायदे, लड़के जरूर पढ़ें

कल्याण आयुर्वेद- इमली के बीज बहुत ही फायदेमंद होती है. हालांकि इमली को लोग काम में लेने के बाद इसके बीजों को फेंक देते हैं. लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि इमली के बीज कई औषधीय गुणों से भरपूर होते हैं. इसके बीज यौन दुर्बलता को दूर करने में शिलाजीत से अधिक कारगर होता है. इसके अलावा स्वप्नदोष, धातु की कमजोरी और महिलाओं के प्रदर रोगों में भी इमली का बीज काफी लाभकारी होता है. इमली का बीज सबसे सस्ता और मर्दाना ताकत बढ़ाने के लिए बढ़िया दवाई है.
इमली का बीज नही है बेकार, जानें चमत्कारी फायदे, लड़के जरूर पढ़ें
पुरुषों में उम्र के साथ-साथ यौन दुर्बलता आने लगती है. जिससे वे हमेशा निराश और बेचैनी का अनुभव करते हैं. लेकिन इमली के बीजों के द्वारा अपना खोया हुआ यौन शक्ति पुनः प्राप्त कर सकते हैं. पुरुष यदि इस घरेलू नुस्खे को अपनाएं तो उनकी यौन दुर्बलता कुछ ही दिनों में दूर हो जाती है. यह बहुत ही आसान और बिल्कुल देसी तरीकों में से एक है.
इमली का बीज नही है बेकार, जानें चमत्कारी फायदे, लड़के जरूर पढ़ें
बचपन में आपने इमली को बहुत सारी होगी और हो सकता है अभी भी आप बड़े चाव से ही खाते होंगे. लेकिन क्या आपको इससे होने वाले फायदों के बारे में पता है. अगर नहीं तो इस पोस्ट को अंत तक पढ़ें.
आजकल व्यंजनों को स्वादिष्ट बनाने वाले खट्टी इमली किसे नहीं पसंद होती है. सभी बच्चे को, कभी युवतियां इसे चटकारे लेकर खाते दिखाई दे जाते हैं. यही नहीं कई तरह की चटनियां भी इमली के स्वाद के बगैर अधूरी ही होती है.
तो चलिए जानते हैं इमली और इमली के बीजों के फायदे-
1 .इमली का जूस पीने से कैंसर से लड़ने की शक्ति प्राप्त होती है. इमली में एंटीऑक्सीडेंट प्रचुर मात्रा में पाया जाता है. एक रिसर्च में बताया गया है कि इसके बीज किडनी को फेल पर, कैंसर की रोकथाम में मददगार होते हैं.
2 .जब कफ के साथ थोड़ा खून आता है तो इमली के बीजों को तवे पर सेककर ऊपर से छिलके निकालकर पीसकर चूर्ण बनाकर रख लें. इसे 3 ग्राम तक घी या मधु के साथ दिन में तीन- चार बार चाटने से शीघ्र ही खांसी का वेग कम होने लगता है और कफ सरलता से निकलने लगता है और रक्त में मिला हुआ कफ खत्म हो जाता है.
3 .अगर आप अपने वजन को लेकर सतर्क हैं और वजन को कम करना चाहते हैं तो यह आपकी मदद कर सकती है. वजन घटाने के लिहाज से इसमें हाइड्रो ऑक्साट्रिक एसिड प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो शरीर में वसा को कम करने वाले एंजाइम को बढ़ावा देता है.
4 .इमली के वृक्ष की जली हुई छाल की भस्म 10 ग्राम बकरी के दूध के साथ प्रतिदिन सेवन करने से पीलिया यानी जौंडिस रोग ठीक हो जाता है.
5 .अगर किसी इंसान को बिच्छू काट ले तो उस समय भी इमली का इस्तेमाल किया जा सकता है. अगर बिच्छू काट ले तो इमली के बीजों को दो टुकड़े करके बिच्छू की काटी हुई जगह पर इसे लगा दे. काफी राहत मिलेगी.
6 .इमली का बीज पुरुषों के साथ महिलाओं के लिए भी काफी फायदेमंद होता है. जैसे सफेद पानी या वाइट डिस्चार्ज की समस्या होने पर महिलाओं को इमली के बीज का चूर्ण सेवन करना काफी फायदेमंद होता है.
7 .गर्मियों में अक्सर लू लग जाने से तबीयत खराब हो जाती है. लू से बचने में भी इमली मददगार होता है. इसके लिए एक गिलास पानी में 25 ग्राम इमली भिगोकर इसका पानी पीने से लू नहीं लगती है. इसके अलावा इमली का गूदा हाथ- पैर के तलवों पर लगाने से लू का असर खत्म हो जाता है.
8 .लगभग 500 ग्राम इमली के बीजों को 4 दिन तक पानी में भिगोकर छोड़ दें. उसके बाद इसके छिलके को उतारकर छाया में सुखाकर पीस लें. फिर 500 ग्राम लगभग मिश्री का पाउडर मिलाकर सुरक्षित रखें. अब एक चम्मच की मात्रा में दूध के साथ प्रतिदिन दिन में 2 बार सेवन करें. इसके नियमित सेवन करने से शीघ्रपतन की समस्या दूर हो जाती है और यौन शक्ति में बढ़ोतरी होती है.
इमली का बीज नही है बेकार, जानें चमत्कारी फायदे, लड़के जरूर पढ़ें
यह जानकारी अच्छी लगे तो लाइक, शेयर करें और स्वास्थ्य से जुड़ी जानकारियां रोजाना पाने के लिए इस चैनल को अवश्य फॉलो कर लें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments