आखिर महिलाएं क्यों होती हैं स्वप्नदोष का शिकार, जानें कारण

कल्याण आयुर्वेद- पुरुष जब स्वप्न में खुद को रति क्रिया करते हुए महसूस करता है तब जब वीर्य स्खलित हो जाती है तो उसे स्वप्नदोष कहा जाता है. हालांकि चिकित्सकों की राय में यह कोई बीमारी या समस्या नहीं है और इसका स्वास्थ्य पर भी कोई बुरा प्रभाव नहीं पड़ता है. लेकिन जब यह समस्या बार-बार होने लगे तो यह गुप्त अंगो की कमजोरी हो सकती है. इसलिए इसके बारे में चिकित्सक की राय जरूर लेनी चाहिए.
आखिर महिलाएं क्यों होती हैं स्वप्नदोष का शिकार, जानें कारण
* शोध में महिलाओं ने रतिक्रिया के बारे में सोचने से होने वाली उत्तेजना के रूप में इसे परिभाषित किया है. जिससे महिलाएं ऑर्गेज्म के लिए उत्तेजित होती हैं. रिसर्च के अनुसार जिन महिलाओं को सेक्स जीवन में ऑर्गेज्म की प्राप्ति कम होती है. उनके साथ स्वप्नदोष की समस्या ज्यादा होती है.
* सेक्स प्ले नेशंस नाम की किताब लिखने वाले डॉक्टर बेली के अनुसार नींद में भावनाओं पर हमारा नियंत्रण कमजोर पड़ जाता है और हमारी दबी हुई भावनाएं, चाहतें सांकेतिक तौर पर उभरकर सामने आ जाती है. बेली के अनुसार कई महिलाएं नींद में अपेक्षाकृत जल्दी ऑर्गेज्मा हासिल कर लेती हैं.
महिलाओं में स्वप्नदोष होने के कारण-
* हालांकि महिलाओं को इस अवस्था का एहसास बहुत कम होता है क्योंकि महिलाओं का जननांग अंदर की ओर विकसित होता है. महिलाओं में यह अवस्था तब होती है जब वह तीव्र एवं एहसास से गुजरती है. किशोरावस्था, युवावस्था या फिर पति से बहुत अधिक दिनों तक दूर रहने पर कई बार महिलाओं में तीव्र यौन इच्छा जगती है और वह सोते से उठ जाती हैं और उत्तेजना बस उनकी योनि अंदर से गीली और चिकनी हो जाती है.
आखिर महिलाएं क्यों होती हैं स्वप्नदोष का शिकार, जानें कारण
* महिलाओं में स्वप्नदोष के अन्य कारण भी होते हैं जैसे कि सोते समय कई बार जननांग या उसके आसपास दबाव पड़ने, घर्षण आदि के कारण काम उत्तेजना का एहसास होता है. ऐसा अक्सर टाइट पेंटी पहने, जांघों के बीच हाथ दबा कर सोते वक्त हाथ से घर्षण आदि.
* कई बार अकेली स्त्री में अचानक से सोई हुई उत्तेजना को जगा देता है जिससे अक्सर उनकी नींद खुल जाती है.
आखिर महिलाएं क्यों होती हैं स्वप्नदोष का शिकार, जानें कारण
* आजकल ज्यादातर महिलाएं पुरुषों की तरह है मोबाइल, लैपटॉप इत्यादि में सेक्स से जुड़ी फिल्में देखना पसंद कर रही हैं जो स्वप्नदोष का कारण बनता है, ऐसी फिल्में देखने के बाद अक्सर ही सोने के बाद दिमाग में यह बात चलती रहती है और उत्तेजना होकर स्वप्नदोष हो जाती है.

Post a Comment

0 Comments