तनाव के कारण सिर्फ सिर दर्द ही नही बल्कि शरीर में होते हैं कई बड़ी समस्याएं, आप भी जानें

कल्याण आयुर्वेद- महिला हो या पुरुष आज के समय हर किसी की जिंदगी में तनाव का होना एक आम समस्या हो गया है. चाहे बच्चे हो या बड़े हर व्यक्ति किसी न किसी तरह की चिंता से हमेशा घिरा ही रहता है.
तनाव के कारण सिर्फ सिर दर्द ही नही बल्कि शरीर में होते हैं कई बड़ी समस्याएं, आप भी जानें
कुछ हद तक तनाव होना स्वाभाविक भी है. लेकिन जब यही तनाव बढ़ने लगता है तो इससे व्यक्ति को एंग्जायटी और अवसाद व अन्य कई गंभीर समस्याओं का सामना करना पड़ता है. इतना ही नहीं अगर तनाव अधिक हो जाए तो इससे बाहर निकल पाना भी व्यक्ति के लिए काफी मुश्किल हो जाता है. इसलिए जरूरी है कि समय रहते इसकी पहचान कर ली जाए और प्रोफेशनल हेल्प की मदद से स्थिति को नियंत्रित किया जाए.
आमतौर पर शरीर में तनाव का स्तर बढ़ जाने से यह समस्याएं होने लगती है जैसे-
सिर व दांत दर्द-
जब व्यक्ति को ज्यादा तनाव होता है तो उसे लगातार सिर दर्द व जबड़े में दर्द और अकड़न का एहसास अक्सर होता है. दरअसल डिप्रेशन में व्यक्ति अक्सर अपने दांत को पिसता है. जिसके कारण उसे दांतों में दर्द व अकड़न की समस्या होती है.
मांसपेशियों में कमजोरी-
तनाव के कारण व्यक्ति के शरीर में अक्सर कंपन होती है. यहां तक कि उसके होठ व हाथ भी कापते हैं. इसके अलावा मांसपेशियों में ऐंठन, गर्दन में दर्द और पीठ दर्द की समस्या भी होती है. तनाव के कारण व्यक्ति को चक्कर आना, हल्का सिर दर्द और बेहोश भी हो सकती है.
त्वचा से जुड़ी समस्याएं-
जी हां, तनाव का बढ़ता स्तर त्वचा संबंधी समस्याओं को ही उत्पन्न करता है. दरअसल, तनाव के कारण व्यक्ति को बार-बार पसीना आता है या फिर उसके हाथ- पैर बार-बार ठंडे हो जाते हैं. जिसकी वजह से त्वचा पर चकत्ते, दाने, खुजली, मुंहासे व अन्य एलर्जी होने लगती है.
पेट से जुड़ी समस्या-
तनाव को हार्टबर्न, कब्ज, पेट दर्द व मतली का कारण भी माना जाता है. इसके कारण व्यक्ति को पेट फूलना, दस्त आदि समस्याएं भी हो सकती है. इसलिए अगर आपको इस तरह की समस्याएं लगातार बनी रहे तो आपको नजरअंदाज नहीं करना चाहिए.
क्रॉनिक दर्द-
शरीर में तनाव का स्तर बढ़ जाने पर अक्सर लोगों को कई तरह के दर्द की शिकायत होती है. एक अध्ययन के अनुसार स्ट्रेस हार्मोन कोर्टिसोल का बढ़ा हुआ स्तर पुराने दर्द से जुड़ा हुआ हो सकता है. इसलिए शरीर में तनाव का स्तर बढ़ने पर व्यक्ति को पुराना दर्द फिर से उभर सकता है. वैसे तनाव के अतिरिक्त उम्र बढ़ने, चोट पहुचना व नर्वस डैमेज के कारण भी व्यक्ति को क्रॉनिक दर्द की समस्या हो सकती है.
यह जानकारी अच्छी लगे तो लाइक, शेयर जरूर करें और स्वास्थ्य से जुड़ी जानकारियां रोजाना पाने के लिए इस चैनल को अवश्य फॉलो कर लें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments