क्यों पहनती है भारतीय महिलाएं पैरों में चांदी की पायल ? फायदे जानकर चौंक जाएंगे

अक्सर कहा जाता है कि अगर शादीशुदा महिला पैरों में पायल पहनती है तो यह शुभ माना जाता है. इसलिए परंपराओं के अनुसार शादीशुदा महिलाओं को जो सुहागिन है आजीवन पायल पहनी चाहिए.
क्यों पहनती है भारतीय महिलाएं पैरों में चांदी की पायल ? फायदे जानकर चौंक जाएंगे
लेकिन क्या आपको पता है कि पायल पहनने के पीछे पारंपरिक ही नहीं बल्कि वैज्ञानिक कारण भी होता है. महिलाएं हमेशा चांदी की पायल पहनती है तो चांदी उनके अंगों से चिपकी रहती है जो महिलाओं को शीतलता प्रदान करती है जिससे वह कई बीमारियों से भी दूर रहती हैं.
शादी के बाद पायल पहने जाने वाली बेहद महत्वपूर्ण मानी जाती है क्योंकि पायल पहनने से महिलाओं को पॉजिटिव एनर्जी प्राप्त होती है.
क्यों पहनती है भारतीय महिलाएं पैरों में चांदी की पायल ? फायदे जानकर चौंक जाएंगे
पायल पहनने से ना से नेगेटिव एनर्जी दूर रहती है बल्कि यह महिलाओं के लिए रक्षा कवच की तरह काम करती है, जो सुहागिनों को बुरी नजर से बचाती है इसलिए भी पैरों में पायल पहनने की परंपरा सदियों से चली आ रही है.
अगर वैज्ञानिक तर्क की बात करें तो पायल पहनने से हड्डियों को मजबूती मिलती है. दरअसल पायल जब पैरों पर रगड़ की है तो त्वचा के माध्यम से इसके तत्व हड्डियों तक पहुंचकर लाभ पहुंचाते हैं.
इसके अलावा यह भी माना जाता है कि यदि शादीशुदा महिला के पैरों में सूजन आ जाए और पायल पहन ले तो यह समस्या स्वतः ही दूर हो जाती है.
चांदी शरीर को ठंडा रखती है यह शरीर के तापमान को नियंत्रित रखती है माना जाता है कि यदि किसी महिला का स्वास्थ्य खराब रहता है तो पायल पहनने से उसकी सेहत में काफी सुधार आने लगता है.
यह जानकारी अच्छी लगी तो लाइक, शेयर करें और स्वास्थ्य से जुड़ी जानकारियां रोजाना पाने के लिए इस चैनल को अवश्य फॉलो कर लें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments