पीरियड में भी हो सकता है गर्भधारण, पीरियड सेक्स के दौरान रखें इन बातों का ध्यान

कल्याण आयुर्वेद- अधिकतर महिलाओं का पीरियड साइकिल 28 दिनों का होता है. इसमें ओव्यूलेशन प्रक्रिया आपके 28 दिनों की पीरियड साइकिल के बीचो-बीच यानी 14 में दिन शुरू होती है. इसमें पहले दिन से ही 24 घंटे तक आपसे अंडे जीवित रहते हैं. वही स्पर्म 5 से 7 दिन तक जिंदा रह सकते हैं. इस प्रक्रिया के हिसाब से ओवुलेशन प्रक्रिया का सबसे ज्यादा सक्रियता 13वीं 14वीं 15वीं और 16वीं में दिन रहती है.
पीरियड में भी हो सकता है गर्भधारण, पीरियड सेक्स के दौरान रखें इन बातों का ध्यान
अधिकतर महिलाओं को लगता है कि मासिक धर्म के दौरान सेक्स करना सबसे सेफ होता है. बिना प्रोटेक्शन भी सेक्स करने से इस दौरान वे गर्भधारण नहीं कर सकती हैं. लेकिन आपको बता दें कि यह बिलकुल सेफ नहीं है सेक्स करने से हमेशा गर्भधारण का खतरा बना रहता है. चाहे मासिक धर्म में ही सेक्स क्यों ना किया जाए.
गायनोकोलॉजिस्ट की मानें तो मासिक धर्म में 1 से 15% तक गर्भवती होने की संभावना अधिक रहती है.
यह होती है प्रक्रिया-
इस चीज को हम ऐसे समझ सकते हैं कि ओवरी में अंडा निकलने की प्रक्रिया को ओव्यूलेशन कहा जाता है. फैलोपियन ट्यूब के जरिए अंडा यूट्रस यानी कि गर्भाशय में पहुंचता है. फैलोपियन ट्यूब ही वह जगह है जहां स्पर्म के संपर्क में आकर फ़र्टिलाइज़र होता है. लेकिन अगर कांसेप्शन यानी कि गर्भधारण नहीं होता है तो अंडा ब्लीडिंग के रूप में शरीर से बाहर निकल जाता है. जिसे हम मासिक धर्म या पीरियड या माहवारी कहते हैं.
छोटी साइकिल वाली महिलाएं रखें इन बातों का ध्यान-
लेकिन कभी-कभी मासिक धर्म का साइकल छोटा होता है. अगर यह गैप 22 दिन से कम है तो मासिक धर्म के तुरंत बाद ओवुलेशन होता है. यह गैप सिर्फ तीन- चार दिन का भी हो सकता है. इसका मतलब है कि अगर आपने बिना प्रोटेक्शन मासिक धर्म के आखिरी दिन या पांचवें दिन सेक्स किया और ओवुलेशन होता है तो स्पर्म से मिलकर अंडा फ़र्टिलाइज हो जाता है जाहिर है कि छोटे पीरियड साइकिल वाली महिलाओं में मासिक धर्म के दौरान प्रेगनेंसी का खतरा अधिक होता है.
मासिक धर्म में सेक्स करते हुए बरतें सावधानियां-
वही एक सर्वे के अनुसार मासिक धर्म के दौरान लड़के प्रोटेक्शन का इस्तेमाल किए बिनासेक्स करते हैं. ऐसे में दोनों पार्टनर को कई तरह के इंफेक्शन जैसे एसटीडी और हेपेटाइटिस जैसे एवं समस्याओं का खतरा रहता है. इसलिए इस दौरान प्रेग्नेंसी और इन इन्फेक्शन से बचने के लिए हमेशा कंडोम का इस्तेमाल करें ताकि आपके ब्लड से एक प्रोटेक्टिव लेयर बनी रहे. साथ ही इंटर कोर्स के बाद भी खुद को क्लीन भी करें.
यह जानकारी अच्छी लगे तो लाइक, शेयर करें और स्वास्थ्य से जुड़ी जानकारियां रोजाना पाने के लिए इस चैनल को अवश्य फॉलो कर लें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments