जानें- शराब पीने से बढ़ जाती है इन बीमारियों की संभावना

कल्याण आयुर्वेद- आजकल शराब पीना फैशन बन गया है ज्यादातर लोग शराब पीना पसंद कर रहे हैं, इतना ही नहीं आजकल लड़के तो शराब पीते ही हैं लेकिन लड़कियां भी शराब पीना शुरू कर चुकी हैं.
जानें- शराब पीने से बढ़ जाती है इन बीमारियों की संभावना
हालांकि शराब के सेवन से होने वाली समस्याओं और बीमारियों से हम सभी लगभग परिचित हैं. कई बार हम लोग अपने आसपास देखते हैं कि लोग शराब पीकर अपने घर- परिवार के लोगों को काफी परेशान करते हैं. इतना ही नहीं कुछ लोग तो अपने पड़ोसियों से भी बदतमीजी करने लगते हैं. कई बार तो शराब पीने के कारण लड़ाइयां भी हो जाती है. कई लोग शराब पीकर सड़कों पर या नालियों में भी गिर पड़ते हैं.
यह तो हुई शराब पीने के प्रत्यक्ष नुकसान जो कि तुरंत सामने दिखाई देता है. लेकिन शराब के सेवन से हमारे शरीर पर भी बहुत दुष्प्रभाव पड़ता है. जिसका असर कुछ दिनों बाद दिखना शुरू होता है. लेकिन यदि आपने इस पर गौर नहीं किया या शराब पीना नहीं छोड़ा तो इसके कारण मौत तक भी हो सकती है.
अगर सभी लोग जो अल्कोहल का सेवन करते हैं वह एक दिन एक ड्रिंक सीमित कर ले तो शायद किसी कार्डियोलॉजिस्ट, लिवर विशेषज्ञ और शराब का सेवन न करने की सलाह देने वालों की जरूरत ही नहीं पड़ेगी. लेकिन जो कोई भी शराब पीता है वह सिर्फ एक ड्रिंक पर ही रुक जाए ऐसा बहुत ही कम लोग होते हैं.
यदि गहराई से देखा जाए तो अधिक मात्रा में शराब पीने से शरीर का बहुत नुकसान होता है. इससे लिवर सिरोसिस, लीवर में जलन और सूजन आदि समस्याएं उत्पन्न हो सकती है जो घातक बीमारियां होती है. ज्यादा मात्रा में शराब के सेवन से हाई ब्लड प्रेशर की समस्या और हृदय मांस पेशियों को भी नुकसान पहुंच सकता है. इसके कारण मुंह के कैंसर, ग्रस्नी, कंठनली, इसोफेगस, स्तन कैंसर और कोलोरेक्टल कैंसर होने का खतरा अधिक हो जाता है.
शराब पीने से हो सकती है यह बीमारियां-
लीवर, स्तन और गले का कैंसर-
शराब में कैंसर पैदा करने वाले गुण होते हैं. शोध में पाया गया है कि सीधे तौर पर कैंसर का खतरा पैदा करता है. आप इसे नियमित रूप से पिए या कभी कभार यह सिर और गले, लीवर, स्तन और कोलोरेक्टल आदि के कैंसर को बढ़ावा देती है.
शरीर में विटामिन b12 का कम होना-
शरीर में विटामिन b12 तंत्रिकाओं और रक्त कोशिकाओं को स्वस्थ रखने का काम करता है. यह ब्रेन, स्पाइनल कॉर्ड और नर्वस के कुछ तत्वों की रचना में भी मददगार होता है. शराब विटामिन b12 के लेबल को कम कर देती है और उसका कम निर्माण करती है. जिसके कारण पुरुषों में इनफर्टिलिटी व सेक्सुअल डिस्फंक्शन की भी समस्या हो सकती है.
कैल्शियम और विटामिन डी के अवशोषण में बनता है बाधक-
शराब पीने से हमारी आंत कमजोर हो जाती है जिसके वजह से कैल्शियम और विटामिन डी अवशोषण नहीं कर पाता है. इन जरूरी मिनरल्स की कमी की वजह से हड्डियों पर भी बड़ा बुरा प्रभाव पड़ता है. लिवर डैमेज इसको ज्यादा पीने से सिरोसिस हो जाता है. जिससे लीवर में घाव हो जाता है और वह ठीक से काम नहीं कर पाता है. इससे इंसान को मृत्यु हो सकती है.
अवसाद-
शराब दिमाग से निकलने वाले हार्मोन का लेवल को कम कर देती है. यही वही हार्मोन होता है जो हमें अच्छा महसूस करवाता है. शराब कुछ देर के लिए तो मूड को बेहतर बनाती है, लेकिन बाद में यह में अवसाद के घेरे में ढकेल देती है.
दिमागी कमजोरी-
ज्यादा दिन तक लगातार शराब पीते रहने से दिमाग सोचने समझने तथा निर्णय लेने की क्षमता खो देता है. इसके अलावा डिमेंशिया नामक बीमारी हो जाती है. जिसमें व्यक्ति को भूलने की समस्या होती है. याददाश्त धीरे-धीरे नष्ट होना शुरू हो जाता है.
नपुंसकता का खतरा-
अधिक मात्रा में शराब के सेवन से वीर्य को नुकसान होता है. इससे वीर्य की गुणवत्ता कम हो जाती है. साथ ही इससे हार्मोन का संतुलन भी खराब हो जाता है. जिससे शुक्राणु पर बुरा प्रभाव पड़ता है. इसके परिणाम स्वरूप व्यक्ति नपुंसक भी हो सकता है.
हृदय रोग-
रिसर्च के माध्यम से पता चला है कि ज्यादा मात्रा में शराब के सेवन से दिल की मांसपेशियां कमजोर होने लगती है जिससे हृदय तक पहुंचने वाला रक्त की गति सही मात्रा में नहीं पहुंच पाता है. इसके अलावा इसे हार्ट अटैक, स्ट्रोक और हाई ब्लड प्रेशर भी हो सकता है.
यह जानकारी अच्छी लगे तो लाइक, शेयर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments