ब्लड प्रेशर लो होने पर तुरंत करें ये घरेलू उपाय, जल्द होगा फायदा

कल्याण आयुर्वेद- ब्लड प्रेशर लो होना यानी शरीर में ब्लड का दबाव कम होने से शरीर के सभी अंगों तक नहीं पहुंच पाता है. जिसके वजह से शरीर के अंगों को काम करने में बाधा पहुंचती है. ऐसे में दिल, किडनी, फेफड़े और दिमाग आंशिक रूप से या पूरी तरह से काम करना भी बंद कर सकते हैं और यदि लो ब्लड प्रेशर को नजरअंदाज किया जाए तो यह हमारे लिए काफी खतरनाक हो सकता है.
ब्लड प्रेशर लो होने पर तुरंत करें ये घरेलू उपाय, जल्द होगा फायदा
आदर्श रूप से ब्लड प्रेशर 120/80 ( सिस्टोलिक/ डायस्टोलिक ) से कम होना चाहिए. सिस्टोलिक के लिए 90 मिलीमीटर एचजी से कम और डायस्टोलिक के लिए 60 मिलीमीटर एचजी से कम लो ब्लड प्रेशर माना जाता है. बिना किसी लक्षण या संकेत के लो ब्लड प्रेशर आश्वस्त नहीं होता है. चक्कर आना और बेहोशी दोनों लो ब्लड प्रेशर के लक्षण है. यह लक्षण सबसे आम है जब व्यक्ति लेटने या बैठने के बाद खड़ा होता है. लो ब्लड प्रेशर के कारण है खून की कमी, ह्रदय रोग और दवाएं दोनों लो और हाई ब्लड प्रेशर का जो आमतौर पर उम्र बढ़ने के कारण बढ़ता है.
लो ब्लड प्रेशर का उपचार इसके होने के कारणों पर निर्भर करता है. आइए लो ब्लड प्रेशर के लक्षणों को जानें-
शरीर में खून की कमी-
कई बार शरीर में रक्त की कमी निम्न रक्तचाप यानी लो ब्लड प्रेशर का कारण बनती है. किसी बड़ी चोट या अंदरूनी रक्त स्राव के कारण शरीर में अचानक खून की कमी हो जाती है. जिससे लो ब्लड प्रेशर की समस्या हो जाता है.
कमजोरी व पोषण की कमी-
पोषण की कमी और कमजोरी लो ब्लड प्रेशर का एक बड़ा कारण है. जरूरी पोषक तत्वों की कमी होने पर शरीर पर्याप्त मात्रा में लाल रक्त कोशिकाएं नहीं बना पाती है जिससे रक्तचाप कम हो जाता है.
ह्रदय रोग-
ह्रदय से जुड़ी किसी भी प्रकार की समस्या होने पर ब्लड प्रेशर लो हो सकता है. इसलिए आपको इस दौरान विशेष सावधानी बरतने की आवश्यकता है.
पानी की कमी-
शरीर में पानी की कमी से आप कई बार कमजोरी महसूस करते हैं. पानी की कमी से सिर्फ लो ब्लड प्रेशर ही नहीं स्वास्थ्य और कई भी समस्याएं होती है. जिसमें बुखार, उल्टी, डायरिया आदि शामिल है.
गर्भावस्था-
स्त्रियों में गर्भावस्था के समय लो ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती है क्योंकि इस समय सर्कुलेटरी सिस्टम तेजी से बढ़ता है.
इन बीमारियों के कारण भी कम हो जाता है ब्लड प्रेशर-
अगर आपको स्वास्थ्य से जुड़ी कुछ अन्य समस्याएं जैसे- डायबिटीज, थायराइड, एडीशंस डिजीज आदि है तो आप लो ब्लड प्रेशर के मरीज हो सकते हैं. इसके अलावा किसी प्रकार का टेंशन, सदमा लगने, डर, इंफेक्शन आदि होने पर भी लो ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती है.
अन्य स्वास्थ्य समस्याएं-
यदि आप किसी स्वास्थ्य समस्या से पीड़ित हैं, उसके लिए लगातार दवाइयों का सेवन कर रहे हैं तब भी लो ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती है.
लो ब्लड प्रेशर के अन्य लक्षण-
सामान्य तौर पर जब आप अचानक बेहद कमजोरी महसूस करें या चक्कर आने जैसे लक्षण लो ब्लड प्रेशर के लक्षण हो सकते हैं. लेकिन मुख्य रूप से थकान, डिप्रेशन, जी मचलाना, प्यास लगना, धुंधला दिखाई देना, त्वचा में पीलापन, शरीर ठंडा, आधी अधूरी और तेज सांस लो ब्लड प्रेशर के मुख्य लक्षण हैं.
लो ब्लड प्रेशर से राहत पाने के घरेलू उपाय-
1 .अगर ब्लड प्रेशर लो हो गया है तो नमक के पानी का सेवन करें, इससे आपका ब्लड प्रेशर तुरंत सामान्य हो जाएगा क्योंकि नमक में सोडियम पाया जाता है इससे आपको लो ब्लड प्रेशर की समस्या से राहत मिलेगी.
2 .लो ब्लड प्रेशर के मरीजों को किशमिश का नियमित सेवन करना चाहिए. इसके लिए रात को 30 से 40 किशमिश भिगोकर रख दें और सुबह खाली पेट इसका सेवन करें.
3 .तुलसी के सेवन करने से भी लो ब्लड प्रेशर की समस्या से छुटकारा मिलती है. आप किसी भी जूस में 10 से 15 तुलसी की पत्तियों को डालें और उसमें शहद डालें. अब इसे सुबह खाली पेट प्रतिदिन पिए.
4 .पानी में नमक और नींबू डालकर पीने से भी लो ब्लड प्रेशर में फायदा होता है. इसके पीने से लीवर भी सही तरीके से काम करता है और आपकी पाचन क्रिया ठीक रहती है.
नोट- यह पोस्ट शैक्षणिक उद्देश्य से लिखा गया है. लो ब्लड प्रेशर की समस्या होने पर आप डॉक्टर से सलाह लें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments