महिलाएं नियमित करें इन चीजों का सेवन, ब्रेस्ट कैंसर आपको छू भी नहीं पाएगा

कल्याण आयुर्वेद- आज के समय में 10 में से एक महिला को ब्रेस्ट कैंसर का खतरा देखा जा रहा है. ब्रेस्ट कैंसर की अंतिम स्टेज में सर्जरी कराने के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं रह जाता है. लेकिन हाल ही में हुए एक शोध में बताया गया है कि गाजर खाने से ब्रेस्ट कैंसर होने की संभावना 60 फ़ीसदी तक कम हो जाती है.
महिलाएं नियमित करें इन चीजों का सेवन, ब्रेस्ट कैंसर आपको छू भी नहीं पाएगा
गाजर में मौजूद beta-carotene कैंसर के खतरे को कम करने में मददगार होता है. इसके अलावा दूसरी कई ऐसी सब्जियां और फल हैं जिनमें beta-carotene पाया जाता है. पालक, लाल मिर्च और आम में भी इस तत्व की भरपूर मात्रा होती है.
महिलाएं नियमित करें इन चीजों का सेवन, ब्रेस्ट कैंसर आपको छू भी नहीं पाएगा
American general of clinical nutrition में प्रकाशित एक शोध के अनुसार ब्रेस्ट कैंसर से बचाव के लिए गाजर से बेहतर कुछ भी नहीं है. किसी भी दूसरी सब्जी और फल की तुलना में यह कहीं ज्यादा फायदेमंद है.
बीटा- कैरोटीन फलों और सब्जियों में प्रचुर मात्रा में पाए जाने वाला एक रासायनिक तत्व है, जिसकी मौजूदगी से ही फलों और सब्जियों का रंग चटक होता है, वैसे तो सालों से विशेषज्ञ beta-carotene खाने की सलाह देते आ रहे हैं. लेकिन इससे पहले तक सिर्फ दिल से जुड़ी बीमारियों से बचाव के लिए ही लाभदायक माना जाता था.
वैज्ञानिकों का मानना है कि प्राकृतिक तरीके से beta-carotene का सेवन करना कैंसर से बचाव का सबसे बेहतर उपाय है. रिसर्च में यह भी बात साबित हो चुकी है कि अनार महिलाओं को स्तन कैंसर का शिकार होने से बचाव करता है.
अखरोट कैंसर जैसी बीमारियों को दूर करने में सक्षम है. यदि आप नियमित रूप से अखरोट का सेवन करती हैं तो कई गंभीर बीमारियां होने का खतरा काफी कम हो जाता है. साथ ही कैंसर का भी.
महिलाएं नियमित करें इन चीजों का सेवन, ब्रेस्ट कैंसर आपको छू भी नहीं पाएगा
स्तनपान कराने से स्तन कैंसर की रोकथाम, हार्मोन थेरेपी की अवधि 3 से 5 साल तक होने पर स्तन कैंसर का खतरा बढ़ जाता है. आप कितना हार्मोन लेते हैं इसकी निगरानी डॉक्टर खुद करें तो बेहतर होगा.
स्तन कैंसर से बचाव के लिए जरूरी है कि 30 वर्ष से अधिक आयु की महिलाओं की स्क्रीनिंग आवश्यक रूप से की जाए. 45 वर्ष से 54 वर्ष की महिलाओं को हर साल एक बार स्क्रीनिंग मैमोग्राम करा लेना चाहिए. 55 वर्ष या अधिक उम्र की महिलाओं को प्रत्येक साल स्क्रीनिंग करानी चाहिए.
यह जानकारी अच्छी लगे तो लाइक, शेयर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments