औषधीय गुणों का खजाना है पीपल का पेड़, जानें आश्चर्यजनक फायदे

कल्याण आयुर्वेद- हिंदू धर्म में पीपल के पेड़ का बहुत महत्व होता है. पीपल के पेड़ की पूजा की जाती है तो वही यह तेजी से वातावरण को शुद्ध करने के लिए जाना जाता है. इसे ना केवल धर्म- संसार से जोड़ा गया है बल्कि वनस्पति विज्ञान और आयुर्वेद के अनुसार भी पीपल का पेड़ कई तरह से औषधीय गुणों से भरपूर माना गया है. पीपल के पेड़ से होने वाले ऐसे ही कुछ स्वास्थ्य लाभ है. जिसके बारे में हम बताने की कोशिश करेंगे.
औषधीय गुणों का खजाना है पीपल का पेड़, जानें आश्चर्यजनक फायदे
1 .सांस की तकलीफ-
सांस संबंधी किसी भी प्रकार की समस्या में पीपल का पेड़ आपके लिए काफी लाभदायक हो सकता है. इसके लिए पीपल के पेड़ की छाल का अंदरूनी हिस्सा निकालकर सुखा लें. सूखे हुए इस भाग का चूर्ण बनाकर खाने से सांस से जुड़ी सभी तरह की समस्याएं दूर हो जाती है. इसके अलावा पत्तों को दूध में उबालकर पीने से भी दमा में काफी लाभ होता है.
2 .दातों के लिए-
पीपल की दातुन करने से दांत मजबूत होते हैं और दांतों में दर्द की समस्या भी दूर हो जाती है. इसके अलावा 10 ग्राम पीपल की छाल, कथा और 2 ग्राम काली मिर्च को बारीक पीसकर मंजन की तरह बना लें. अब इससे मंजन करने से दांतों की सभी तरह की समस्याएं दूर हो जाती है.
3 .बिष के प्रभाव करता है कम-
किसी जहरीले जीव- जंतु द्वारा काट लेने पर अगर समय पर कोई चिकित्सक मौजूद नहीं हो जब पीपल के पत्तों का रस थोड़ी- थोड़ी देर में पिलाने से बिष का असर कम होने लगता है.
4 .त्वचा की समस्या-
त्वचा पर होने वाले समस्याएं जैसे- दाद, खाज, खुजली में पीपल के कोमल पत्तों को खाने या इसका काढ़ा बनाकर पीने से काफी लाभ होता है. इसके अलावा फोड़े- फुंसी जैसी समस्या होने पर पीपल की छाल पिसकर लगाने से लाभ होता है.
5 .घाव को करता है ठीक-
शरीर के किसी भी हिस्से में घाव हो जाने पर पीपल के पत्तों का गर्म लेप लगाने से घाव जल्दी भरने लगता है. इसके अलावा प्रतिदिन इस लेप का प्रयोग करने से व पीपल की छाल का लेप करने से घाव जल्दी भर जाता है और जलन भी नहीं होती है.
6 .जुकाम को करें दूर-
सर्दी- जुकाम जैसी समस्या में पीपल काफी फायदेमंद होता है. इसके लिए पीपल के पत्तों को छाया में सुखाकर मिश्री के साथ इसका काढ़ा बनाकर पीने से आराम मिलता है. इससे जुकाम जल्दी ठीक होने में मदद मिलती है.
7 .त्वचा पर निखार लाने के लिए-
त्वचा का रंग निखारने के लिए भी पीपल की छाल का लेप या इसके पत्तों का प्रयोग किया जा सकता है. इसके अलावा यह त्वचा की झुर्रियों को कम करने में भी मदद करता है. पीपल की ताजी जड़ को भिगोकर त्वचा पर इसका लेप करने से झुर्रियां कम होने लगती है.
8 .तनाव को करें कम-
पीपल एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होता है. इसके कोमल पत्तों को नियमित रूप से चबाने पर तनाव में कमी आती है और बढ़ती उम्र का असर भी कम होता है.
9 .नकसीर-
नकसीर की समस्या को दूर करने में पीपल काफी मददगार होता है. इसके लिए पीपल के ताजे पत्तों को तोड़कर रस निकालकर नाक में डालने से बहुत लाभ होता है. इसके अलावा इसके पत्तों को मसलकर सूंघने से भी नकसीर से राहत मिलती है.
10 .पेट रोगों को करता है दूर-
पीपल को पीत विनाशक माना जाता है, यानी यह पेट की समस्या जैसे गैस, कब्ज, एसिडिटी से राहत दिलाता है. पित्त बढ़ने के कारण पेट में यह समस्या उत्पन्न होती है. ऐसे में इसके ताजे पत्तों के रस का एक चम्मच सुबह-शाम लेने से पीत का नाश होता है और पेट से जुड़ी समस्याएं दूर होने लगती है.

Post a Comment

0 Comments