हंसते, खांसते, छींकते या खड़े-खड़े निकल जाता है पेशाब तो जानें कारण और घरेलू उपाय

कल्याण आयुर्वेद- कई ऐसी महिलाएं हैं जिन्हें खासते, छींकते, हंसते या खड़े- खड़े पेशाब निकल जाने की समस्या रहती है. जिसमें कुछ बूंदे पेशाब निकल आता है.
हंसते, खांसते, छींकते या खड़े-खड़े निकल जाता है पेशाब तो जानें कारण और घरेलू उपाय
इस समस्या के कारण कई बार महिलाओं को लोगों के बीच शर्मिंदगी झेलनी पड़ती है. आमतौर पर यह समस्या बढ़ती उम्र की महिलाओं में काफी होता है. इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए वैसे तो कई दवाइयां और उपचार उपलब्ध है. लेकिन आज हम आपको कुछ घरेलू उपाय बताने जा रहे हैं. जिसकी मदद से आप इस समस्या से छुटकारा पा सकती हैं.
आमतौर पर यह समस्या यूरिन संबंधी इंफेक्शन और कब्ज के कारण होती है. लेकिन फिजिकल समस्याएं जैसे मेनोपॉज, हिस्टोरेक्टोमी या गर्भावस्था भी इसका कारण हो सकती है. कई बार यह समस्या गर्भावस्था और शिशु के जन्म के बाद भी अधिक हो जाती है. ऐसा पेल्विक मसल्स के कमजोर होने से होता है. आपने कई बार वैजाइना में ढीलेपन महसूस किया होगा, जिससे आपकी इस हिस्से की त्वचा लटक जाती है और ब्लैडर मसल्स कमजोर हो जाती है या फिर ज्यादा ही ओवरएक्टिव हो जाती है जो हंसते,खासते, छींकते या खड़े-खड़े पेशाब निकल जाने का कारण होती है.
हंसते, खांसते, छींकते या खड़े-खड़े निकल जाता है पेशाब तो जानें कारण और घरेलू उपाय
तो चलिए जानते हैं घरेलू उपाय-
1 .सुबह के समय सूखे खजूर का सेवन करें, इसके लिए आपको सुबह फ्रेश और ब्रश करने के बाद तीन से चार खजूर का सेवन करना है, यह मिनरल और फाइबर से भरपूर होते हैं, यह आपको पेट के हेल्दी बैक्टीरिया को बनाए रखने और बॉडी में आयरन को बनाए रखने में मददगार होते हैं,
2 .अंकुरित और पके हुए मूंग और मटकी का सेवन जरूर करें. इसमें एमिनो एसिड होते हैं जो आपकी शरीर को आसानी से मिल जाती है, इसके लिए थोड़े से लेकर पानी में भिगो दें और रातभर के लिए ऐसे ही छोड़ दें. सुबह उठकर ब्रश करने के बाद इसको निकाल लें और पानी को फेंक दें और फिर इसे पकाकर सेवन करें लाभ होगा.
3 .नाश्ते, दोपहर और रात के खाने में एक चम्मच घी जरूर शामिल करें, ताकि आसानी से फैटी एसिड विटामिन बी, विटामिन ए, विटामिन ई और विटामिन के आपको मिल सके.
हंसते, खांसते, छींकते या खड़े-खड़े निकल जाता है पेशाब तो जानें कारण और घरेलू उपाय
4 .यूरिन को कंट्रोल करने के साथ ही बॉडी की मसल्स को रिलैक्स करने के लिए मैग्नीशियम बहुत ही आवश्यक होता है. यह ब्लैडर मसल्स की ऐंठन को कम करके ब्लैडर को पूरी तरह खाली करने में मदद करती है. शरीर में मैग्नीशियम की मात्रा को पूरा करने के लिए महिलाओं को अपनी डाइट में नट्स, सीड्स, केले और दही शामिल करना चाहिए. विटामिन डी महिलाओं में इस समस्या को दूर करने में मददगार होता है. विटामिन डी के लिए मछली, कस्तूरी, अंडे की जर्दी, दूध और अन्य डेयरी उत्पादों को अपनी डाइट में शामिल करें.
5 .Apple Cider सिरका हेल्थ के लिए एक टॉनिक का काम करता है. यह शरीर से टॉक्सिंस को दूर करके ब्लैडर इन्फेक्शन को दूर करने में मदद करता है. कई बार अधिक वजन होने के कारण भी यूरिन पर कंट्रोल नहीं रहता है. ऐसे में यह वजन को कम करने में मदद करता है. इसके लिए एक गिलास पानी में एक से दो चम्मच एप्पल साइडर विनेगर को मिलाकर थोड़ा-सा शहद मिलाकर दिन में दो तीन बार प्रतिदिन पिए. ध्यान रखें कि अगर आपके ओवर एक्टिव ब्लैडर है तो इसका सेवन न करें.
6 .इस समस्या से राहत पाने के लिए कीगल एक्सरसाइज मददगार होती है, इसलिए आपको नियमित इस एक्सरसाइज का सहारा लेना चाहिए. इससे पेल्विक एरिया के ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है, जिसके कारण मसल्स को मजबूत बनाने में मदद मिलती है.
यह जानकारी अच्छी लगे तो लाइक, शेयर जरूर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments