सत्तू का अधिक सेवन सेहत पर पड़ सकता है भारी, अभी जानें

दोस्तों, गर्मियों के दिनों में लोग सबसे ज्यादा सत्तू का सेवन करते हैं. क्योंकि सत्तू की तासीर ठंडी होती है, साथ ही यह सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद होती है. इसके अलावा कई लोग ऐसे हैं जिन्हें अगर नाश्ते के लिए टाइम ना मिले तो पानी में सत्तू को घोलकर पी जाते हैं. लेकिन आपको पता होगा कि कोई भी चीज अधिकता नुकसानदायक होती है. आज के इस पोस्ट में हम आपको सत्तू का अधिक सेवन करने के नुकसान बताएंगे.
सत्तू का अधिक सेवन सेहत पर पड़ सकता है भारी, अभी जानें
तो आइए जानते हैं विस्तार से -

दोस्तों, सत्तू जहां सेहत के लिए गुणकारी होता है. वही इसका सेवन अधिक करने से यह नुकसान भी करने लगता है. सत्तू का सेवन अधिक मात्रा में किया जाए तो उससे पेट में गैस बनने लगती है. इसलिए इस बात का वह लोग ज्यादा ख्याल रखें, जिन्हें पहले से ही गैस से संबंधित कोई समस्या हो. इसके अलावा वह भी सत्तू का कम ही सेवन करें.

2.सत्तू का सेवन सबसे ज्यादा गर्मी के दिनों में किया जाता है. लेकिन बारिश के मौसम में ज्यादा सेवन नहीं करना चाहिए. क्योंकि बारिश के मौसम में नमी हो जाती है और कई बार हल्की ठंड भी लगने लगती है और सत्तू की तासीर ठंडी होती है. ऐसे में इसका सेवन करने से आपको सर्दी जुकाम की समस्या हो सकती है.

3.आपको बता दें पथरी के मरीजों को उन चीजों का सेवन करने से मना किया जाता है. जिसमें ऑक्सलेट हो, ऑक्सलेट ही पथरी का कारण बनती है. इसी वजह से पथरी की समस्या से पीड़ित लोग चने कि सत्तू के इस्तेमाल से बचें चने में ऑक्सलेट प्रचुर मात्रा में होता है, जो पथरी मरीजों के लिए बहुत नुकसानदायक है.

4.दोस्तों कई लोग दिन में कई बार सत्तू का सेवन करते हैं. आपको बता दें सत्तू भारी होता है. जिसकी वजह से भूख कम लगने लगती है. ऐसे में दिन में एक या दो बार से ज्यादा सत्तू ना खाएं. क्योंकि यह पेट में जाकर खुलता है और बार-बार खाने से हाजमा बिगड़ सकता है. इसके अलावा भूख ना लगने की समस्या भी हो सकती है.

दोस्तों, क्या आपको सत्तू खाना पसंद है ? हमें कमेंट में जरूर बताइए और अगर जानकारी अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक और शेयर जरूर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments