सीढ़ियां चढ़ने या थोड़ी दूर चलने में ही सांस फूलने लगती है तो रखें इन बातों का ध्यान

कल्याण आयुर्वेद- आजकल लोगों का लाइफ स्टाइल और खानपान की वजह से स्टेमना कमजोर होते जा रहा है. इसकी वजह से थोड़ी दूर चलने में ही हाफ़ने लगते हैं यानी सांस फूलने लगती है. ऐसे ही जब हम अपने घर में सीढियाँ भी चढ़ते हैं तो सांस फूलने लगती है और हमारी दिल की धड़कन भी काफी तेज हो जाती है. यह आम लोगों की समस्या है, जिससे ज्यादातर लोग गुजरते हैं. सीढ़ियां चढ़ते समय थकान का होना बहुत सामान्य घटना है, लेकिन यह भी बहुत ही सीमित मात्रा में होना चाहिए जो एक कमजोर शरीर की निशानी को दर्शाता है.
सीढ़ियां चढ़ने या थोड़ी दूर चलने में ही सांस फूलने लगती है तो रखें इन बातों का ध्यान
चलिए जानते हैं विस्तार से-
* फिटनेस की बात करें तब भी सीढ़ियां चढ़ने और उतरने में हमारे शरीर की कैलोरी खर्च होती है और फैट कम होता है, इस कारण हमें अधिक ऊर्जा लगानी पड़ती है और हमें थकान का अनुभव होता है. लेकिन यदि 2 फ्लोर चढ़कर ही आपको थकान होने लगती है तो यह अच्छे संकेत नहीं है बल्कि आपके शरीर में छिपी हुई कमजोरी को दर्शाती है.
* कुछ लोगों को सीढ़ियां चढ़ने के बाद सिर भारी होना, सिर घूमना या आंखों के आगे अंधेरा छाना जैसी समस्या होती है, अगर आपके साथ भी इस तरह की समस्या हो रही है तो आपको डॉक्टर की सलाह तुरंत लेनी चाहिए. क्योंकि यह स्थिति शरीर में किसी गंभीर बीमारी का संकेत हो सकते हैं.
* अपनी डाइट का पूरा ध्यान रखें. इस बात का पता लगाएं कि क्या आपके भोजन से आपको पूरा पोषण प्राप्त हो रहा है क्योंकि जब शरीर को पूरा पोषण नहीं मिल पाता है, तब शरीर में कमजोरी रहती है और कई रोग पनपने लगते हैं, जिसके कारण सांस फूलना और थकान जैसी समस्याएं होती है.
* खुद को सक्रिय रखें, योग कर सकते हैं, घर के आंगन या छत पर टहल सकते हैं.
* कोई बहुत मेहनत का काम करने के बाद सांस फूलना एक सामान्य समस्या है लेकिन अगर दो फ्लोर चढ़कर ही आपको सांस लेने में परेशानी होने लगती है तो इसका मतलब है कि आपका हृदय पूरी तरह से स्वस्थ नहीं है इसलिए अपनी कमजोर होते ह्रदय को बीमार होने से बचाने के लिए अपनी सेहत का ध्यान रखें और डॉक्टरी सलाह लें.
* हालांकि कई बार यह समस्या इसलिए भी होती है कि हम बहुत आलस्य युक्त जीवन जी रहे होते हैं यानी हम जो भी काम करते हैं आराम का काम करते हैं.
इसलिए यदि आप भी ऐसी समस्या से गुजर रहे हैं तो आप अपने लाइफस्टाइल को बदलें, अच्छा खाएं, नियमित वाक् करें और खुश रहें.
* यदि आप आराम का काम करते हैं तो सुबह- शाम कम से कम 1 किलोमीटर पैदल चलने की आदत जरूर डालें. इससे आपका शरीर स्वस्थ रहेगा.
यह जानकारी अच्छी लगी तो लाइक, शेयर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments