आपकी किस्मत बदल सकती है कान्हां बांसुरी, जानें कैसे करें प्रयोग

कहा जाता है कि कान्हां की बांसुरी घर में रखना शुभ होता है. वही वास्तु शास्त्र में भी भगवान श्री कृष्ण की प्रिय बांसुरी को काफी महत्व दिया गया है. कहते हैं जिस घर में बांसुरी होती है वहां कभी भी नकारात्मक शक्तियों का प्रभाव नहीं रहता है. साथ ही घर में बांसुरी रखने से तमाम वास्तु दोष भी खत्म हो जाते हैं.
आपकी किस्मत बदल सकती है कान्हां बांसुरी, जानें कैसे करें प्रयोग
तो चलिए जानते हैं तमाम वास्तु दोष को दूर करने के लिए बांसुरी का कैसे करें प्रयोग-
1 .माना जाता है कि बांसुरी रखने से बुरी शक्तियां घर के आसपास भी नहीं रह पाती है, इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा आती है और सुख- शांति का माहौल बना रहता है. इसके लिए घर में कोनों में अलग-अलग रंग की बांसुरी रखें या मुख्य दरवाजे के दोनों छोर पर बांसुरी लटका दें.
2 .पति- पत्नी के बीच होने वाले बेवजह झगड़ों का कारण भी वास्तुदोष हो सकता है. ऐसे में बेडरम की छत पर लाल धागे से बांसुरी लटका दें. इससे पति-पत्नी के रिश्ते मजबूत होते हैं और प्यार बना रहता है.
3 .घर परिवार में कलह क्लेश या सदस्यों के बीच मतभेद बने रहते हैं तो हॉल में एक ही रंग के दो बासुरी रखें.
4 .यदि आप आर्थिक दिक्कतों से परेशान हैं तो वास्तु के अनुसार मंदिर में चांदी की बांसुरी रखने से घर में लक्ष्मी का वास होता है और आर्थिक परेशानी खत्म हो जाती है. वही तिजोरी में चांदी की बांसुरी रखने के भी पैसे की किल्लत दूर होती है. साथ ही इससे वास्तु दोष भी खत्म होते हैं.
5 .बिजनेस में तरक्की के लिए भी बांसुरी आपकी मदद कर सकता है. वास्तु शास्त्र में बताया गया है कि ऑफिस की छत पर लाल रंग के धागे में बांसुरी बांधकर लटकाने से बिजनेस में आ रहे समस्याएं दूर होंगी. वहीं अगर आपको नौकरी नहीं मिल रही है तो बेडरूम के डोर पर पीली रंग की बांसुरी टांगे, आपकी समस्याएं दूर हो जाएगी.
6 .संतान प्राप्ति की इच्छा रखने वाले जोड़े को अपने बेडरूम में हरी बास रखनी चाहिए. बांसुरी को इस तरह रखें क किसी को दिखाई ना दे.
7 .अगर परिवार के सदस्य अक्सर बीमार पड़ते रहते हैं तो किचन में गोल्डन बांसुरी रखें इससे परिवार के लोग बीमारियों से दूर रहेंगे.
8 .मंदिर में मोर पंख लगी बांसुरी रखने से घर के सब्ज रुके हुए काम पूरे होने लगते हैं. साथ ही इससे घर की नेगेटिव एनर्जी भी दूर होती है.
Note- यह पोस्ट शैक्षणिक उद्देश्य से लिखा गया है किसी भी प्रयोग से पहले आप योग्य वास्तु विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें.
यह जानकारी अच्छी लगे तो लाइक, शेयर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments