शरीर की सूजन दूर करने के 10 घरेलू उपचार

कल्याण आयुर्वेद- शरीर में सूजन का होना कोई बीमारी नहीं है बल्कि किसी दूसरे बीमारी होने का संकेत है. शरीर के जिस हिस्से में सूजन होती है वह जगह पिली हो जाती है और हाथ से दबाने पर गढ़ा होने लगता है. सूखी त्वचा शुष्क हो जाती है. कमजोरी अधिक लगना, बुखार आदि का होता है. दिल की बीमारी में सूजन जांघो और हाथों पर होती है, लीवर की समस्या होने पर सूजन पेट पर होती है, गुर्दे की बीमारी होने पर सूजन चेहरे पर होती है, इसके अलावा महिलाओं के मासिक धर्म की समस्या में मुंह, हाथ और पैरों पर सूजन होती है.

तो चलिए जानते हैं सूजन दूर करने के 10 घरेलू उपाय-

1 .मक्खन में काली मिर्च के चूर्ण को डाल कर अच्छे से मिलाकर सेवन करते रहने से थोड़े ही दिनों में सूजन खत्म हो जाती है.

2 .एक गिलास पानी में दो चम्मच गाजर के बीजों को आंच में उबालें और फिर इसे ठंडा करके पिए. इस उपाय को प्रतिदिन करने से सूजन तेजी से कम हो जाती है.

3 .400 ग्राम पानी में 200 ग्राम कच्चे आलू को काटकर आंच में उबालें और इसे सूजन पर सेक करें. आलू के टुकड़ों का लेप करने से शोथ जल्दी खत्म हो जाती है.

4 .तरबूज के बीजों को छाया में सुखा लें और इन्हें पीस लें. इसके बाद एक कप पानी में तीन-चार चम्मच तरबूज के जिसे बीजों को मिलाकर 1 घंटे के लिए भिगो लें और इसे छानकर पीते रहने से सूजन कम होकर खत्म हो जाती है इसका सेवन दिन में 4 बार करें आपको जल्दी लाभ मिलेगा.

5 .एक गिलास गर्म दूध में एक चम्मच हल्दी का पाउडर और पिसी हुई मिश्री को मिलकर प्रतिदिन पीने से सूजन दो-तीन दिन में खत्म हो जाती है. लेकिन सूजन ख़त्म होने या कम होने की स्थिति में इस उपाय को बंद नहीं करें. कम से कम 3-4 माह इस उपाय को जरूर करें. ताकि आपको फिर से सूजन की समस्या ना हो.

6 .1 लीटर पानी में एक कप जौ को उबालकर और फिर इसे ठंडा करके पीते रहने से सूजन कम होने लगती है. इस उपाय को नियमित रूप से करते रहना चाहिए.

7 .350 ग्राम सरसों के तेल में 120 ग्राम लाल मिर्च के चूर्ण को मिलाकर इसे आंच पर गर्म करें और उबलने के बाद इसे छान लें और सूजन वाली जगह पर इसका लेप लगाएं. ऐसा करने से सूजन ठीक हो जाती है.

8 .पुराने गुड़ के साथ 10 ग्राम सोंठ को मिलाकर खाते रहने से कुछ ही दिनों में सूजन की समस्या दूर हो जाती है.

9 .धनिया की ताजी पत्तियों और धनिया के सूखे बीजों दोनों में ही सूजन को ठीक करने के गुण पाए जाते हैं. पैरों में सूजन होने पर एक कप पानी को उबालने के लिए रख दें इसमें 3 चम्मच साबुत धनिया डाल दें. इसे उबालकर पकने दें. जब तक कि पानी आधा ग्लास ना रह जाए. अब इसे आंच से उतारकर छान लें और एक चम्मच शहद डालकर दिन में दो बार पिएं.

9 .थोड़े से जैतून के तेल में लहसुन की दो तीन काली काटकर भून लें और फिर इसमें से लहसुन अलग कर लें. अब इस तेल को पैरों पर लगा कर दिन में दो-तीन बार मालिश करें. इससे पैरों की सूजन ठीक होती है और दर्द से भी राहत मिलता है.

10 .नींबू पानी के नियमित सेवन करने से शरीर से विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं. इससे पैरों के साथ शरीर के दूसरे हिस्सों में होने वाली सूजन भी दूर हो जाती है. एक गिलास गुनगुने पानी में दो चम्मच नींबू का रस और एक चम्मच शहद मिलाकर पिए.

डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए-

अनुचित खानपान एवं जीवन शैली के कारण पैरों में कभी-कभी सूजन आ सकती है और घरेलू उपाय से या आराम करने से खुद ही खत्म हो जाती है. लेकिन बार-बार पैरों में सूजन की समस्या रहने पर या 1 सप्ताह से ज्यादा दिनों तक सूजन बने रहने पर यह गुर्दों से संबंधित बीमारी होने का संकेत होता है. अतः इस समस्या को गंभीरता से लेते हुए आपको डॉक्टर की सलाह अनुसार उपचार जरूर करना चाहिए.

नोट- यह पोस्ट शैक्षणिक उद्देश्य से लिखा गया है किसी भी प्रयोग से पहले आप योग्य डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

यह जानकारी अच्छी लगे तो लाइक, शेयर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments