सुबह उठते ही प्रतिदिन करें शरीर के इस अंग का दर्शन, होगी धन, ज्ञान और सुख की प्राप्ति

ज्योतिष शास्त्र- कहा जाता है कि सुबह जिसकी अच्छी होती है उसका पूरा दिन ही अच्छा बितता है. शास्त्रों में भी इस बात पर जोर दिया गया है कि सुबह की शुरुआत अच्छी होने पर दिन ही अच्छा होता है और इसी अच्छे दिन की कामना करने के लिए लोग अलग-अलग तरह के उपाय अपनाते हैं. शास्त्रों में बताए गए आज हम आपको एक ऐसे ही उपाय के बारे में बताने जा रहे हैं. यदि आप प्रतिदिन शरीर के अंग का दर्शन करते हैं धन, ज्ञान और सुख की प्राप्ति होगी.

सुबह उठते ही प्रतिदिन करें शरीर के इस अंग का दर्शन, होगी धन, ज्ञान और सुख की प्राप्ति

आज हम आपको शरीर के जिस अंग के दर्शन के बारे में बताने जा रहे हैं वह है दोनों हथेलियां. जिसे आप सुबह उठते ही अपने दोनों हथेलियों को आपस में मिलाएं और फिर खोल लें और इस मंत्र का उच्चारण करें.

मंत्र इस प्रकार है-

कराग्रे वसते लक्ष्मी; करमध्ये सरस्वती ! कर मूले तू गोविंद; प्रभाते कर दर्शनम् !!

इस मंत्र का अर्थ है मेरे हाथ के आगे भाग में महालक्ष्मी, मध्य में सरस्वती और मूल भाग में भगवान विष्णु का निवास है मैं प्रणाम करता हूं.

सुबह हथेलियों का दर्शन आवश्यक क्यों होता है ?

हमारी संस्कृति में कर्म करते रहने का संदेश दिया गया है. हमारे जीवन के चार आधार हैं. धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष. जो व्यक्ति इन चारों आधार के लिए काम करता है. उससे भगवान सदा खुश रहते हैं और अपना कृपा उस पर बनाए रखते हैं. केवल अपने कर्मों से हम अपने जीवन को स्वर्ग की ओर या नरक की ओर ले जा सकते हैं.

हथेलियों को देखने से किन देवताओं की मिलती है कृपा ?

सुबह अपनी हथेलियों को देखने से मां लक्ष्मी, मां सरस्वती और हरि के दर्शन होते हैं. जिससे धन, ज्ञान और सुख की प्राप्ति है.

यह जानकारी अच्छी लगे तो कमेंट में जय मां लक्ष्मी जरूर लिखें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments