जानें- साइनस के लक्षण और अचूक घरेलू उपाय

कल्याण आयुर्वेद- साइनस एक ऐसी बीमारी है जिससे एक बड़ी आबादी ग्रसित है. यह नाक से संबंधित रोग है. सांस लेने में तकलीफ और चेहरे की मांसपेशियों में दर्द के साथ शुरू होता है. डॉक्टरों का कहना है कि साइनस खोपड़ी में हवा से भरी हुई जगह होती है. यह माथे, नाक की हड्डियां, गाल और आंखों के पीछे होती है. साइनस में लोगों को सांस लेने में तकलीफ, नाक में खुजली होती है. आज हम आपको साइनस के लक्षण और घरेलू उपाय के बारे में बताने की कोशिश करें.

जानें- साइनस के लक्षण और अचूक घरेलू उपाय

साइनस के लक्षण-

* वयस्कों में साइनस के लक्षण जुकाम या कोल्ड के साथ शुरू होती है. जुकाम की अनदेखी के कारण यह स्थिति ठीक होने की जगह बिगड़ सकती है.

* सांसों से बदबू आना.

* किसी तरह की गंध महसूस ना कर पाना, छींकें शुरू हो जाना.

* ऐसी खांसी जो रात को और ज्यादा हो जाती है.

* थकान और बीमार जैसा महसूस करना.

* आंखों के पीछे दर्द और आंखों में दर्द होना.

* चेहरे का बहुत मुलायम हो जाना.

* नाक बंद होना या बहना और गले में खराश होना.

साइनस के अचूक घरेलू उपाय-

* नाक का स्प्रे-

नाक का स्प्रे साइनस के इलाज के लिए बेहद प्रभावी होता है. इसके लिए आप पानी में थोड़ा सा नमक और बेकिंग सोडा मिलाएं. आप इसे सूंघें या एक स्प्रे बोतल में भरकर नाक में डालें. आप इस नाक के स्प्रे का इस्तेमाल दिन में दो-तीन बार कर सकते हैं. साइनस से काफी राहत मिलेगी.

* करें आराम-

शायद आपको पता ना हो. लेकिन साइनस के दर्द से राहत पाने के लिए भरपूर आराम करना बेहद आवश्यक है.अच्छी नींद लेने से भी आप जल्दी ठीक हो सकते हैं.

* एप्पल साइडर सिरका-

यह कई स्वास्थ्य लाभ के साथ एक अद्भुत प्राकृतिक घटक है. 2 या 3 बड़े चम्मच कच्चे अनफिल्टर एप्पल साइडर विनेगर के साथ रोजाना तीन बार एक कप गर्म पानी या चाय और साइनस दबाव से राहत देने वाले अत्यधिक बलगम को बाहर निकालने में मदद करता है.

* हाइड्रेट रहें-

चीनी के बिना पानी, चाय या जूस पीना खुद को हाइड्रेट रखने का एक प्रभावी तरीका है. यह तरल पदार्थ बलगम को पतला करने में मदद करते हैं और चेहरे साइनस से राहत दिलाते हैं.

यह जानकारी अच्छी लगे तो लाइक, शेयर जरूर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments