आज से शुरू हो रहा है कार्तिक का महीना, तुलसी पूजन में जरूर रखें इन बातों का ख्याल

कल्याण आयुर्वेद - तुलसी पौधे का भारतीय संस्कृति में बहुत महत्व है. हिंदू धर्म में लोग इसकी पूजा करते हैं. इतना ही नहीं सेहत के कई लाभ भी इससे होते हैं. इसका इस्तेमाल औषधियों के रूप में भी किया जाता है. आज से ही कार्तिक का महीना शुरू हो चुका है और इन दिनों तुलसी मा की पूजा का खास ख्याल रखना होता है. आज के इस पोस्ट में हम आपको इसी विषय में बताएंगे. 

आज से शुरू हो रहा है कार्तिक का महीना, तुलसी पूजन में जरूर रखें इन बातों का ख्याल 

तो आइए जानते हैं विस्तार से -

1.वैसे तो शाम के समय किसी भी पौधे के पत्तों को नहीं तोड़ना चाहिए. लेकिन आपको बता दें कि तुलसी के पौधे के पत्तों को शाम में बिल्कुल भी ना तोड़ें. पूर्णिमा, अमावस्या, रविवार, द्वादशी, संक्रांति आदि के दिन आप शाम में या दोपहर दोनों संध्या काल के बीच तुलसी के पत्तों को ना तोड़ें.

2.किसी के जन्म या किसी के मृत्यु के समय घर में सूतक लग जाता है. उस समय तुलसी ग्रहण नहीं करना चाहिए, क्योंकि तुलसी श्री हरि के स्वरूप वाली है.

3.आपको बता दें यदि आप तुलसी पत्तों का सेवन करना चाहते हैं, तो इसके लिए भी कई तरह के तरीके हैं. आप इसकी पत्तियों की चाय बनाकर भी इसका सेवन कर सकते हैं. परन्तु इस बात का जरूर ध्यान रखें, कि तुलसी पत्तों को कभी दांतों से ऐसे ही चबाकर ना खाएं. इससे उनका अपमान होगा.

आपको यह जानकारी कैसी लगी ? हमें कमेंट में जरूर बताइए और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरुर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments