अगर बार-बार लग जाती है बच्चे को नजर तो ताबीज में भरकर पहना दें इस पौधे की जड़, कभी नहीं लगेगी नजर

अक्सर छोटे बच्चे को नजर लग जाती है, जिसकी वजह से बच्चे रोने लगते, बार-बार उनकी तबीयत खराब हो जाती है. ऐसे में कई बार तबीयत खराब होने के बाद इलाज के बाद माता-पिता परेशान हो जाते है. अगर आप भी इस समस्या से परेशान हैं तो आज हम आपको एक ऐसे पौधे के बारे में बताने जा रहे हैं. जिसकी जड़ को ताबीज में भरकर बच्चे को पहना दिया जाए तो नजर दोष समाप्त हो जाता है और जब तक बच्चा उस ताबीज को पहने रहता है उस पर नजर दोष नहीं लगता है.

अगर बार-बार लग जाती है बच्चे को नजर तो ताबीज में भरकर पहना दें इस पौधे की जड़, कभी नहीं लगेगी नजर

जी हां, हम जिस पौधे की जड़ के बारे में बात कर रहे हैं वह है मदार का जड़. आपको बता दें कि मदार दो तरह का होता है नीला और सफेद फूल वाला तो नीला फूल वाले के मुकाबले सफेद फूल वाला मदार का इस्तेमाल ज्योतिष शास्त्र में अधिक किया जाता है.

* ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सफ़ेद मदार की जड़ नजर दोष को दूर करने के लिए सबसे कारगर साबित होती है. यह इतना प्रभावशाली है कि इसका इस्तेमाल तंत्र विद्या में किया जाता है.

* बच्चे को नजर दोष से बचाने के लिए गणेश जी के पास सफेद आक की जड़ रख दें. अब ॐ गं गणपतए नमः मंत्र के जाप से जड़ को अभिमंत्रित कर लें. अब इसे किसी ताबीज में भरकर हरे रंग की डोरी में लपेटकर बच्चे की गले में बांध दें. ऐसा करने से बच्चे को नजर नहीं लगेगा.

* अगर बच्चा बार- बार बीमार हो जाता है तो बुधवार के दिन आक की जड़ को बच्चे के सिर से 7 बार घुमाकर किसी नदी में प्रवाहित कर दें. बच्चे की बीमारी दूर हो जाती है.

* अगर आप किसी को अपने तरफ आकर्षित करना चाहते हैं तो गुरु पुष्य या रवि पुष्य नक्षत्र में सुबह के समय मदार की जड़ को साफ कर लें और इसे पानी के साथ पीस लें. फिर इस पेस्ट को रुई के साथ मिलाकर बत्ती बनाएं और उसे दीपक में डालकर काजल तैयार कर लें. इसके बाद इस काजल को गणपति जी के मूल मंत्र के साथ अपनी आंखों पर लगा लें. इससे आपका आकर्षण बढ़ जाएगा.

* अगर किसी पर भूत-प्रेत का बाधा हो तो उन्हें सफेद आक की जड़ बांधनी चाहिए. इसे धारण करने से पहले बजरंगबली के चरणों में रखकर उनके किसी भी सिद्ध मंत्र से आमंत्रित कर लेना चाहिए. ऐसा करने से प्रेत बाधा आपको कुछ भी नहीं कर पाएगी.

* अगर पूरी नजर की वजह से बच्चे की तबीयत अक्सर खराब रहती है तो रवि पुष्य या गुरु पुष्य के दिन श्वेत मदार के 11 फूलों की माला बनाकर बच्चे को पहनाना चाहिए.

नोट- यह पोस्ट शैक्षणिक उद्देश्य से लिखा गया है किसी भी प्रयोग से पहले आप योग्य ज्योतिषाचार्य की सलाह अवश्य लें.

यह जानकारी अच्छी लगे तो लाइक, शेयर जरूर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments