स्किन कैंसर का संकेत हो सकता है आपके नाखूनों का बदलता रंग, न करें नजरअंदाज

कल्याण आयुर्वेद- कैंसर एक जानलेवा बीमारी है. यह बात हम सभी जानते हैं. बहुत कम ही लोग ऐसे होते हैं जो कैंसर की बीमारी से जूझने के बावजूद भी बच जाते हैं क्योंकि ज्यादातर लोगों की जान चली जाती है. अगर बात करें नाखूनों की तो नाखून न केवल हमारे हाथ- पैर की खूबसूरती बनाते हैं बल्कि वह हमारे सेहत से जुड़े कई राज खोलते हैं. नाखूनों का बदलता रंग कई तरह के संकेत देता है. जिनमें से एक संकेत स्किन कैंसर का भी हो सकता है. इसलिए आज के इस पोस्ट में हम आपको नाखूनों के बदलते रंग के बारे में बताएंगे.

स्किन कैंसर का संकेत हो सकता है आपके नाखूनों का बदलता रंग, न करें नजरअंदाज

तो आइए जानते हैं विस्तार से-

यदि आपको अपने नाखूनों पर काला दाग या काला लाइन नजर आए तो यह मेलानोमा कैंसर का एक लक्षण होता है. इसे नजरअंदाज करना बिल्कुल भी सही नहीं है. अपने नाखून में ऐसा देखने पर डॉक्टर से जरूर मिलें.

नाखूनों में स्कीन के कैंसर के लक्षण-

 1. नाखूनों का आसानी से टूटना. 

2. नाखूनों के आसपास ब्लीडिंग होना.

3. नाखूनों पर हल्के ब्राउन या काले निशान पड़ना.

4. निशानों का तेजी से बढ़ना.

5. नाखूनों के पिगमेंटेड हिस्से में पस पड़ना.

आइए जानते हैं नाखूनों का बदलता रंग क्या कहता है?

नाखूनों का सफेद पड़ना- यदि आपके नाखून सफेद पड़ने लगे हैं तो यह खराब स्वास्थ्य, लिवर रोग, आंत में गड़बड़ी, कैल्शियम की कमी तथा हृदय रोग के संकेत हो सकते हैं. हालांकि कई बार मेडिक्योर, पैडिक्योर करवाने की वजह से भी यह समस्या हो जाती है लेकिन इसे हल्के में ना लें.

पीले नाखून- यदि आपके नाखूनों का रंग पीला पड़ने लगा है तो यह एनीमिया, हृदय रोग, कुपोषण व लिवर से संबंधित बीमारियों का संकेत हो सकता है. इसके अलावा फंगस इंफेक्शन के वजह से भी नाखून पीले पड़ जाते हैं.

लाल नाखून- नाखूनों का रंग जब गहरा लाल पड़ने लगता है तो यह ब्लड प्रेशर का संकेत देता है.

आधा सफेद और आधा गुलाबी नाखून- यदि नाखूनों का रंग ऐसा हो जाता है तो यह गुर्दे की बीमारी तथा सोरायसिस का संकेत देता है.

आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट में जरूर बताइए और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. धन्यवाद.


Post a Comment

0 Comments