सर्दियों में रोजाना करना चाहिए लहसून का सेवन, जानें फायदे

कल्याण आयुर्वेद- लहसून हर किचन में इस्तेमाल होने वाला चीज है. लेकिन लोग लहसून लोग भोजन को स्वाद बढ़ाने का चीज समझते हैं. क्या आपको पता है यह स्वास्थ के लिए कितना फायदेमंद है. अगर नही तो आगे तक पढ़ते रहे.

सर्दियों में रोजाना करना चाहिए लहसून का सेवन, जानें फायदे
हाल ही में एक रिसर्च से पता चला है कि लहसून संक्रमण रोगों से लड़ने में मददगार साबित होता है. शोध के अनुसार लहसून में एजोएन की मात्रा पाई जाती है और जब इसे एंटी बायोटिक के साथ इस्तेमाल किया जाता है तो एक प्रभावशाली औषधि बनती है.

शोध कर्ताओं ने पाया कि लहसून बैक्टीरिया के संचार प्रणाली में महत्वपूर्ण घटकों को ख़त्म करने में सक्षम है सिस्टिक फाइब्रोसिस जैसे संक्रमण लहसून से दूर हो सकते हैं.

बैक्टीरिया स्टेफिलोकोकस औरियम और औरस्यूडोमोनास एरुगेनोसा पर अध्ययन किया गया था जिसमे पता चला की इन दोनों तरह के बैक्टीरिया से लड़ने में अकेले ही काफी है.

ये तो हुई विज्ञान और रिसर्च की बातें लेकिन आपने गाँव देहातों में देखा या सुना होगा की बच्चे को जब सर्दी, जुकाम, न्युमोनियाँ जैसे समस्या हो जाती है तो लहसून की कलियों का माला बनाकर गले में पहनाया जाता है. जिससे बच्चे को इस संक्रमण से बहुत राहत मिलता है.

बड़े या बच्चे किसी को भी सर्दी,खांसी,बुखार जैसी समस्या हो जाती है तो कुछ लहसून की कालिया को घी में भुनकर खिलाया जाता है. जिससे बहुत राहत मिलता है क्योंकि एंटीबायोटिक गुण पाए जाते हैं जो संक्रमण को दूर करने में मददगार होता है.

इसलिए हर किसी को सर्दियों में लहसून की 1-2 कच्ची कलियों का रोजाना सेवन करना फायदेमंद होता है क्यों कि इन दिनों में सर्दी, खांसी, जुकाम जैसी समस्याओं का खतरा बढ़ जाता है.

Post a Comment

0 Comments