जानें- ल्यूकोरिया को जड़ से ख़त्म करने का शर्तिया घरेलू इलाज

कल्याण आयुर्वेद- ल्यूकोरिया महिलाओं में होनेवाला रोग है जिसे श्वेत प्रदर,सफ़ेद पानी जाना,धात के नाम से जाना जाता है. इस रोग में लड़की या महिला के गुप्त अंग से सफ़ेद बदबूदार एवं चिपचिपा पानी निकलता है. इसके निकलने से इन्फेक्शन का खतरा बढ़ जाता है. यह खारीच पैदा करता है. यह रोग ज्यादातर शादी-शुदा महिलाओं में होता है.

जानें- ल्यूकोरिया को जड़ से ख़त्म करने का शर्तिया घरेलू इलाज
कुछ महिलाओं में प्रेगनेंसी के दौरान पानी जाने की शिकायत होती है. इस रोग में महिलाओं में कमजोरी, कमर दर्द आदि शिकायतें मिलती है. इस बीमारी के ज्यादा दिनों तक रहने से महिलाओं के चेहरे पर डार्क सर्कल होने लगता है. चक्कर आने लगता है. हाथ पैरों में दर्द जैसी समस्या होने लगता है.

ल्यूकोरिया होने का कारण-

यूरिन इन्फेक्शन होना,बार-बार गर्भपात होना,गुप्त अंग की सफाई न रखना,अधिक शारीरिक संबंध बनाना,पौष्टिक भोजन न करना,खट्टी चीजो का सेवन ज्यादा करना आदि के कारण यह रोग होता है.

आइये जानते हैं ल्यूकोरिया का शर्तिया घरेलू इलाज-

1 .गुप्त अंग पर सफाई पर ध्यान रखकर इस बीमारी से बचा जा सकता है. भोजन में पौष्टिक आहार लेना भी फायदेमंद होता है.

2 .एक चम्मच प्याज का रस और एक चम्मच मधु मिलकर रोजाना सेवन करने से ल्यूकोरिया से राहत मिलता है.

3 .एक पका हुआ केला घी या मक्खन के साथ रोजाना दिन में दो बार खाने से श्वेत प्रदर से राहत मिलता है.

4 .एक चम्मच आंवला का पाउडर और एक चम्मच शहद मिलाकर सुबह- शाम खाने से पानी जाना रूक जाता है.

5 गुप्त अंग को फिटकरी के पानी से धोने से भी बहुत राहत मिलता है क्योंकि फिटकरी एंटी सेप्टिक होता है जो संक्रमण नही होने देता है और पानी जाना को दूर करता है.

6 .दालचीनी,सफ़ेद जीरा,अशोक पेड़ का छाल और इलाइची के बीज को चूर्ण बनाकर इसमें से आधा चम्मच चूर्ण को पानी में उबालकर चाय की तरह पीने से सफ़ेद पानी जाना और रक्त प्रदर ठीक हो जाता है. यह ल्यूकोरिया का शर्तिया इलाज है.

Post a Comment

0 Comments