शनि का चमत्कारी रत्न है नीलम, धारण करने वाले बन जाते हैं रंक से राजा, जानें विस्तार से

ज्योतिष शास्त्र- शनि का चमत्कारी रत्न नीलम के बारे में कहा जाता है कि यह राजा को रंक और रंक को राजा बनाने की ताकत रखता है. यही वजह है कि नीलम बेचने वाले ठगा करते हैं. इसलिए इसे धारण करते समय विशेष सावधानी बरतनी चाहिए. जब आप इसे खरीदने जाए तो कुछ बातों का ध्यान रखकर सही और असली नीलम खरीद कर अपनी किस्मत को चमका सकते हैं. लेकिन नीलम किस तरीके से खरीदें और किस तरीके से धारण करें. इस बात का आपको जानकारी होना जरूरी है.

शनि का चमत्कारी रत्न है नीलम, धारण करने वाले बन जाते हैं रंक से राजा, जानें विस्तार से

तो चलिए जानते हैं विस्तार से-

नीलम की असली पहचान क्या है?

* शनिदेव का मुख्य रत्न नीलम की असली पहचान के लिए आप रत्न को गाय के दूध में डाल दे तो आप थोड़े ही देर बाद देखेंगे कि दूध का रंग नीला लगने लगता है. इस तरीके से आप नीलम की पहचान कर सकते हैं.

* असली नीलम चिकना, चमकदार, साफ और मोर के पंख के समान आभा वाला होता है. नीलम को आप कांच के गिलास में डाल देंगे तो आप को नीली किरणें दिखाई देने लगती है. इससे आप असली नीलम की पहचान कर सकते हैं.

* असली नीलम को अगर मुट्ठी में पकड़ा जाए तो गर्मी का अनुभव होता है और कई बार रक्त दबाव बढ़ जाता है. वही आप श्रेष्ठ नीलम के पास अगर कोई तिनका लाया जाए तो वह इस से चिपक जाता है. इससे आप पहचान सकते हैं.

* असली नीलम के अंदर ध्यान से देखने पर आपको दो परत दिखाई देती है. यह दोनों परत एक दूसरे की समानांतर होती है. नीलम की अलग-अलग परत देखने के लिए आप सूरज की किरणों की तरफ देख सकते हैं. यदि इसमें आपको पीला प्रकाश दिखाई दे तो यह असली नीलम नहीं है.

* असली नीलम को आप घनत्व के जरिए भी पहचान सकते हैं. नीलम भारी रत्न होता है इसके 1 सेंटीमीटर घनत्व में 3. 98 ग्राम वजन होता है. इसलिए नीलम को लेने से पहले वजन की जांच कर लें.

नीलम पहनने के फायदे-

नीलम एक ऐसा रत्न होता है जो अपना प्रभाव अति शीघ्र ही दिखा देता है. इसे पहनने के सकारात्मक परिणाम की ही तरह नकारात्मक परिणाम भी जल्द होते हैं, ग्रह नक्षत्रों और समय की गणना के आधार पर ही इसे धारण किया जाता है. नीलम धारण करने से धन-धान्य और मान सम्मान में बढ़ोतरी होती है. आपको करियर में सफलता मिलती है. स्वास्थ्य हमेशा ठीक- ठाक रहता है और आपके वंश में भी वृद्धि होती है.

कैसे जाने नीलम आप को सकारात्मक परिणाम दे रहा है या नहीं?

नीलम सकारात्मक परिणाम दे रहा है या नहीं इसके लिए सबसे पहले कुछ दिन इसे अपने सिरहाने रख कर सोएं या कपड़े में लपेटकर हर समय अपने पास रखें. सब सामान्य रहे तो इसकी अंगूठी बनवाएं यदि कुछ नकारात्मक परिणाम सामने आए तो इसे धारण नहीं करें.

बिना ज्योतिष सलाह के ना पहने नीलम-

नीलम को दाहिने हाथ की बीच वाली उंगली में 4 से 6 कैरेट का सोना या पञ्च धातु से बनी अंगूठी में पहनना फायदेमंद होता है. इससे भाग्य में बढ़ोतरी होती है और शनि देव के दुष्प्रभाव से छुटकारा मिलती है. नीलम को शनि की दशा में पहनना शुभ माना जाता है. लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि बिना किसी ज्योतिषी सलाह के नीलम धारण नहीं करें क्योंकि इसका नकारात्मक और सकारात्मक प्रभाव तुरंत पड़ता है यदि सकारात्मक प्रभाव पड़ा तो अच्छी बात है. लेकिन नकारात्मक प्रभाव पड़ने पर परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है.

नोट- यह पोस्ट शैक्षणिक उद्देश्य से लिखा गया है अधिक जानकारी के लिए और धारण करने के लिए ज्योतिष की सलाह जरूर लें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments