भोजन के साथ प्रतिदिन करें इस चीज का सेवन, कभी नही होगी बवासीर की समस्या

कल्याण आयुर्वेद- बवासीर बहुत ही कष्टदायक बीमारी होती है. यह दो प्रकार की होती है. एक बाहरी और दूसरा भीतरी. इसमें भीतरी बवासीर के मस्से दिखाई नही देते पर पर बाहरी बवासीर के मस्से दिखाई देते हैं. इस रोग में मल त्यागते समय खून निकलता है तो इसे खुनी बवासीर कहा जाता है. इससे कभी-कभी इतना खून निकलता है कि रोगी इसे देखकर घबरा जाता है. इस तरह बार-बार ब्लड निकलने से रोगी कमजोर हो जाता है. यहाँ तक की एनीमिया जैसी बीमारी तक हो सकती है.

बाहरी बवासीर होने पर मस्से सूज जाते हैं. उसमे जलन, दर्द, और खुजली होने लगती है. रोगी को मल त्यागना मुश्किल सा हो जाता है. मल त्यागने के लिए जोर लगाता है पर दर्द और जलन के कारण सही तरीके से मल त्याग नही कर पाता है.

बवासीर की बीमारी वैसे लोगों को ज्यादा होती है जो अधिक देर तक बैठ कर काम करते हैं. मीट,मसालेदार, ज्यादा तेल से बने चीजों का ज्यादा सेवन करते है आदि कारणों से बवासीर हो जाती है.

लेकिन आज जो हम बताने जा रहे हैं अगर इसका सेवन भोजन के साथ रोजाना किया जायगा तो कभी बवासीर नही होगी.

1 .प्रतिदिन भोजन के साथ मूली का सेवन करने से बवासीर नही होती है. मूली सलाद को रूप में जरुर सेवन करना चाहिए.

2 . कब्ज रहने के कारण बवासीर की बीमारी होती है. अगर रात को खाना के बाद इसबगोल की भूसी का सेवन किया जाय तो बवासीर नही होगी.

3 .खूनी बवासीर होने पर दही या लस्सी के साथ प्याज का रस खाने से ठीक हो जाता है.

4 .एक चौथाई चम्मच दालचीनी शहद के साथ खाने से पाइल्स की शिकायत दूर हो जाती है. अगर रोजाना खाना खाने के बाद इसका सेवन करते रहे तो बवासीर नही होती है.

5 .धुले हुए काला तिल मक्खन के साथ खाने से बवासीर से खून आना रूक जाता है.

यह जानकारी अच्छी लगे तो लाइक,शेयर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments