13 जनवरी को मनाई जाएगी लोहड़ी पर्व, जानिए कैसे मनाया जाता है यह त्यौहार

लोहड़ी-2021- भारत में प्रतिवर्ष मकर सक्रांति से 1 दिन पहले लोहड़ी का त्योहार मनाया जाता है. यह त्यौहार बड़े ही धूमधाम के साथ मनाया जाता है. इस साल लोहड़ी का पर्व 13 जनवरी को मनाया जाएगा. यह पर पंजाब और हरियाणा के प्रमुख त्योहारों में से एक है. लेकिन इस पर्व को देश व दुनिया में बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है क्योंकि पंजाब के लोग भारत में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी रहते हैं. यही वजह है कि दुनिया के कई हिस्सों में विशेषकर कनाडा में भी लोहड़ी का पर्व धूमधाम और हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है.

13 जनवरी को मनाई जाएगी लोहड़ी पर्व, जानिए कैसे मनाया जाता है यह त्यौहार

यह पर्व शरद ऋतु के अंत में मनाया जाता है. माना जाता है कि लोहड़ी के दिन साल की सबसे लंबी और अंतिम रात होती है और अगले दिन से धीरे-धीरे दिन बढ़ने लगता है. कहा जाता है कि लोहड़ी के समय किसानों के खेत लहलहाने लगते हैं और रवि की फसल कट कर आती है. नई फसल के आने की खुशी और अगली बुवाई की तैयारी से पहले लोहड़ी का त्यौहार मनाया जाता है. यह पर्व किसानों को समर्पित है.

लोहड़ी का त्यौहार कैसे मनाया जाता है?

इस त्यौहार का जश्न लोग परिवार के लोगों, रिश्तेदारों, दोस्तों और पड़ोसियों के साथ मिलकर बड़े ही धूमधाम के साथ मनाते हैं. रात के समय सब लोग खुले आसमान के नीचे आग जलाकर चारों ओर चक्कर काटते हुए लोकगीत गाते हैं. नाचते हैं और मूंगफली, मकई, रेवड़ी और गजक आदि खाते हैं. यह त्यौहार एकता, भाईचारे, प्रेम व सौहार्द का प्रतीक भी है.

पंजाब के लोग लोक नृत्य, भांगड़ा और गिद्धा करते हैं. इस दिन विवाहित बेटियों को आग्रह और प्रेम के साथ घर बुलाया जाता है और उन्हें आदर व सत्कार के साथ भोजन कराया जाता है और कपड़े एवं सिंगार के समान भेंट किए जाते हैं.

Post a Comment

0 Comments