वीर्य की कमी और शीघ्रपतन से छुटकारा दिलाते हैं ये 20 घरेलू नुस्खे

कल्याण आयुर्वेद- शारीरिक और मानसिक असंतुलित की स्थिति में शरीर के अन्दर वीर्य नहीं बन पाता या ठहर नहीं पाता और इस कारण शरीर तेजहीन, उदास और निष्काम हो जाता है. ऐसी स्थिति में वीर्य बन भी जाता है तो पतला या बिना शुक्राणु के ही बन पाता है, जिसे हम वीर्य की कमी कहते हैं.

वीर्य की कमी और शीघ्रपतन से छुटकारा दिलाते हैं ये 20 घरेलू नुस्खे 
कारण-

वीर्य की कमी के कई कारण होते है. जैसे- हस्तमैथुन, अधिक सहवास, खान-पान में सही देखभाल न करना, स्वप्नदोष, कमजोरी, मानसिक कमजोरी, चिन्ता करना आदि.

लक्षण-

हमेशा उदास सा रहना, किसी काम में मन का न लगना, सुस्ती, कमजोरी, अपंगता और मानसिक कमजोरी आदि के लक्षण वीर्य की कमी में देखे गये हैं.

वीर्य की कमी और शीघ्रपतन से छुटकारा पाने के घरेलू नुस्खे-

1. चोब चीनी- चोब चीनी को दूध में उबालकर 3 से 6 ग्राम को मस्तगी, इलायची और दालचीनी के साथ सुबह-शाम खाने से धातु (वीर्य) की कमी दूर होती है.

2. छोटी माई- छोटी माई का चूर्ण 2 से 4 ग्राम सुबह-शाम खाने से धातु (वीर्य) की कमी व कमजोरी दूर होती है.

3. गुरुच- गुरुच का चूर्ण आधे से एक ग्राम सुबह-शाम शहद के साथ खाने से लाभ होता है.

4. बेल- बेल की जड़ की छाल को जीरे के साथ पीसकर घी में मिलाकर सुबह-शाम पीने से वीर्य का पतलापन दूर होता है.

4. गुंजा- गुंजा की जड़ 2 ग्राम को दूध में पकाकर रोज रात को खाना खाने से पहले खाने से वीर्य के सभी रोग खत्म हो जाते हैं.

5. गुलशकरी- गुलशकरी की जड़ 6 ग्राम से 10 ग्राम को मिश्री मिले दूध के साथ दिन में सुबह और शाम खाने से वीर्य की कमी दूर होती है.

6. शतावरी- शतावरी का चूर्ण 10 ग्राम से 20 ग्राम चीनी और दूध के साथ पेय बना कर सुबह-शाम सेवन करने से धातु (वीर्य) का पतलापन मिट जाता है.

7. सिरस- सिरस के बीजों का चूर्ण 1 से 2 ग्राम मिश्री मिले गाय के दूध के साथ सुबह-शाम खाने से लाभ मिलता है.
सिरस की छाल और फूल बराबर मात्रा में पीसकर 30 दिनों तक रोज 1 चम्मच सुबह-शाम गर्म दूध के साथ फंकी लेने से वीर्य गाढ़ा होकर मर्दाना ताकत बढे़गी तथा शुक्राणुओं की वृद्धि होती है.
सिरस के बीजों का 2 ग्राम चूर्ण, दोगुनी चीनी मिलाकर रोज गरम दूध के साथ सुबह-शाम लेने से वीर्य बहुत गाढ़ा हो जाता है.

8. मखाना- मखाना की खीर बराबर रूप से खाने से वीर्य की कमी दूर होती है.

9. मुनक्का-4-5 मुनक्का रोजाना खाने से धातु में वृद्धि होती है.

10. छुहारा- 2-3 छुहारे को दूध में उबालकर खाने से वीर्य बढ़ता है.

11. कलम्बो (करनी)- कलम्बो (करनी) का साग रोज खाने से शुक्राणु की कमी दूर होती है और जल्द लाभ नजर आता है.

12. काहू- काहू के बीज का चूर्ण 1 से 3 ग्राम की मात्रा में सुबह और शाम मिश्री मिले दूध के साथ खाने से वीर्य गाढ़ा होता है.

13. प्याज- प्याज और अदरख का रस बराबर मात्रा में लेकर रोज सुबह-शाम शहद के साथ खाने से खोयी हुई जवानी लौट आती है.

14. हत्था जोरी- हत्था जोरी के पंचांग (जड़, तना, फल, फूल, पत्ती) के मिश्रण 40 ग्राम से 80 ग्राम की मात्रा में सुबह-शाम खाने से वीर्य की कमी और वीर्य की कमजोरी दूर होती है.

15. उड़द- उड़द की दाल को पीसकर नमक, कालीमिर्च, जीरा, हींग, लहसुन अदरक आदि को डालकर घी में तलकर दही में मिलाकर खाने से वीर्य बढ़ता है.

16. शिलाजीत- थोड़ी मात्रा में गाय के दूध में घोल कर रोज सुबह-शाम 2-3 महीने तक खाने से धातु (वीर्य) की कमजोरी और अन्य बीमारी दूर हो जाती है.

17. दालचीनी- दालचीनी के तेल में 3 गुना जैतून का तेल मिलाकर शिश्न पर लगाने से मर्दानगी लौट आती है. ध्यान रहे इस पर ठंड़ा पानी न पड़े.
दालचीनी का चूर्ण कर एक चम्मच की मात्रा में खाना खाने के बाद रोज 2 बार दूध के साथ लेने से लाभ होता है.

18. आंवला- रोजाना एक बड़े आंवले के मुरब्बे को खाने से मर्दाना ताकत आती है.

19. खजूर- खजूर रोज गर्म दूध के साथ खाने से कुछ ही दिनों में वीर्य बढ़ जाता है.

20. केसर- केसर को दूध में कुछ दिनों तक डालकर खाने से शीघ्रपतन दूर हो जाता है.

इन चीजों से रखें परहेज- गर्म मिर्च मसालेदार पदार्थ और मांस, अण्डे आदि, हस्तमैथुन करना, अश्लील पुस्तकों और चलचित्रों को देखना, बीड़ी-सिगरेट, चरस, अफीम, चाय, शराब, ज्यादा सोना आदि बन्द करें.

नोट- यह पोस्ट शैक्षणिक उदेश्य से लिखा गया है.किसी भी प्रयोग से पहले किसी योग्य वैध कि सलाह जरुर लें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments