डायबिटीज- बढे हुए शुगर लेबल को तुरंत नियंत्रित करते हैं ये 3 घरेलू चीजें

कल्याण आयुर्वेद- डायबिटीज यानी मधुमेह जिसे ज्यादातर लोग शुगर की बीमारी के नाम से जानते हैं. डायबिटीज किसी को भी हो सकता है यह महिला या पुरुष में भेदभाव नहीं करता है. डायबिटीज एक ऐसी बीमारी है जो किसी को एक बार हो जाए तो पूरी जिंदगी उसका साथ नहीं छोड़ता है. ऐसे में डायबिटीज को नियंत्रित रखने के लिए खानपान के साथ अपने जीवन शैली में बदलाव करना आवश्यक हो जाता है.

डायबिटीज- बढे हुए शुगर लेबल को तुरंत नियंत्रित करते हैं ये 3 घरेलू चीजें

शरीर में इंसुलिन हार्मोन के श्रावण में कमी से डायबिटीज रोग उत्पन्न होता है. डायबिटीज अनुवांशिक, उम्र बढ़ने पर या मोटापे के कारण या तनाव के कारण हो सकता है. डायबिटीज में खास ध्यान रखने की बात यह होती है इसे नियंत्रण में रखना जरूरी हो जाता है क्योंकि इसे नियंत्रण नहीं रखा जाए तो अन्य बीमारियों का खतरा अधिक हो जाता है. किडनी, लीवर, आंखों से जुड़ी समस्याएं उत्पन्न कर सकती है.

डायबिटीज के मरीजों को इन बातों का रखना चाहिए खास ध्यान-

मधुमेह के रोगी का आहार केवल पेट भरने के लिए नहीं होता है बल्कि उनके शरीर में ब्लड शुगर की मात्रा को संतुलित रखने में भी सहायक होता है. क्योंकि यह मनुष्य के साथ जीवन भर रहता है. इसलिए जरूरी है कि वह अपने खान-पान पर हमेशा ध्यान रखें. आमतौर पर मरीज ब्लड शुगर की नार्मल रिपोर्ट आते ही लापरवाह हो जाते हैं. मधुमेह मरीज के स्वास्थ्य को प्रभावित करता है इसलिए उन्हें जो भी करना सेवन करना चाहिए सोच-समझकर सेवन करना चाहिए और शारीरिक एक्टीविटी का विशेष ध्यान रखना चाहिए, अपने जीवन में अर्धबल व्यायाम को जरुर शामिल करना चाहिए.

डायबिटीज के मुख्य लक्षण-

बार-बार पेशाब का होना, थकावट महसूस होना, खुजली करने पर जख्म बन जाना, आंखों की रोशनी में फर्क पड़ना, कट या छिल जाने पर घाव का जल्दी नहीं भरना, अच्छे खान-पान के बावजूद भी वजन का निरंतर कम होते जाना, त्वचा से जुड़ी समस्याएं होना, मसूड़ों से खून आना, बार बार मुंह सूखना, प्यास अधिक लगना इत्यादि लक्षण होते हैं.

बढे हुए ब्लड शुगर को तुरंत नियंत्रित करना शुरू कर देते हैं यह 3 घरेलू चीजें-

1 .करेला- डायबिटीज के मरीजों के लिए करेला किसी चमत्कार से कम नहीं होता है. यह शुगर लेवल तुरंत ही नियंत्रित करना शुरू कर देता है. इसके लिए 100 ग्राम करेले पीसकर जूस निकाल लें. अब इस जूस को सुबह खाली पेट पीना शुरू कर दें. यह शुगर लेवल को तुरंत नियंत्रित करना शुरू कर देता है.

2 .मेथी- बढे हुए शुगर लेवल को कम करने में मेथी किसी रामबाण औषधि से कम नहीं है. इसके लिए मेथी को हल्का लाल होने तक भून लें. अब इसे पीसकर पाउडर बनाकर सुरक्षित रखें. अब एक चम्मच की मात्रा में सुबह-शाम खाली के सेवन करें. यह शुगर लेवल तुरंत ही नियंत्रित करना शुरू कर देता है.

3 .तुलसी के पत्ते- तुलसी का पत्ता एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होता है. यह एक आयुर्वेदिक दवा है जो एक साथ कई रोगों को दूर करने की शक्ति रखता है. तुलसी के पत्तों में आवश्यक तेल जैसे यूजेनोल, केरोफिनिल और मिथाइल युजेनोल आदि होते हैं. यह घटक सही बीटा कोशिकाओं के कामकाज को सुधारने में मदद करते हैं जो इंसुलिन प्रबंधन में सहायक होते हैं. शरीर में इंसुलिन का उत्पादन बढ़ने से रक्त शर्करा के स्तर को कम करने में मदद मिलती है. यदि आप भी मधुमेह के रोगी है तो नियमित रूप से सुबह खाली पेट 8-10 तुलसी के पत्तों का सेवन करना शुरू कर दें. तुरंत ही नियंत्रित करना शुरू कर देता है.

नोट- पोस्ट शैक्षनिक उद्देश्य से लिखा गया है, प्रयोग से पहले किसी योग्य डॉक्टर की सलाह जरूर लें. हालांकि इसका सेवन करना नुकसानदायक नहीं है. यह जानकारी अच्छी लगे तो लाइक, शेयर जरूर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments