इन 4 स्त्रियों का अपमान करने वाला कभी नहीं रहता खुश, जीवन भर छाई रहती है कंगाली

शास्त्रों में स्त्री को शक्ति का स्वरूप माना गया है, क्योंकि इनकी तुलना मां दुर्गा से की गई है. हालांकि लोग स्त्री की महिमा को दरकिनार कर देते हैं. लेकिन ऐसे लोग जो स्त्रियों का अपमान करते हैं उनका जीवन कभी सुख पूर्वक व्यतीत नहीं होता है. हालांकि प्रत्येक स्त्री सम्मान की हकदार होती है. लेकिन रामचरितमानस के अनुसार जो पुरुष इन चार स्त्रियों का अपमान करता है उनके प्रति दुर्व्यवहार रखता है, वह जीवन में कभी खुश नहीं रह सकता, उसका जीवन दरिद्रता और तंगहाली में ही व्यतीत होता है.

इन 4 स्त्रियों का अपमान करने वाला कभी नहीं रहता खुश, जीवन भर छाई रहती है कंगाली

1 .बहू रूप में स्त्री-

शास्त्रों के मुताबिक घर में नई बहू के आगमन को लक्ष्मी का आगमन माना जाता है जो पुरुष घर में आई नई बहू का सम्मान नहीं करता है और उसके प्रति घृणा की दृष्टि रखता है. वह कभी खुश नहीं रह सकता, उसका जीवन हमेशा मुश्किलों में भरा रहता है.

2 .भाई की पत्नी-

शास्त्रों में बड़े भाई की पत्नी को मां के स्वरूप माना गया है जो व्यक्ति अपने मां समान भाभी से दुर्व्यवहार करता है उसे जानवर के समान माना गया है. इसके अलावा छोटे भाई की पत्नी को बेटी समान माना गया है. शास्त्रों में इन दोनों के प्रति गलत धारणा रखना बहुत ही खराब माना गया है. शास्त्रों में इसे महापाप की संज्ञा दी गई है, इसलिए भूल कर भी ऐसी गलती नहीं करनी चाहिए.

3 .बहन-

शास्त्रों के अनुसार किसी भी पुरुष की यह जिम्मेदारी होती है कि वह अपनी बहन के साथ मां समान व्यवहार करें. जितना सम्मान वह अपनी माता का करता है उतना ही सम्मान अपनी बहन के साथ भी करें. अपनी छोटी सोच की वजह से बहन के साथ दुर्व्यवहार करना या फिर उसकी भावनाओं का सम्मान न करना दोनों ही कृत्य करने वाले व्यक्ति को कभी भी भगवान माफ नहीं करते हैं.

4 .घर की बेटी-

घर के बेटी चाहे वह आपकी बेटी हो या फिर भाई या बहन की बेटी हो या फिर घर की कोई अन्य हो. जो पुरुष उसका सम्मान नहीं करता उस पर बुरी नजर रखता है, या उसके साथ मारपीट करता है तो वह कभी खुश नहीं रह सकता, ऐसे पुरुषों के जीवन में कभी भी प्रसन्नता नहीं आती है ऐसे पुरुष से लक्ष्मी हमेशा दूर रहती है.

यह जानकारी अच्छी लगे तो लाइक, शेयर जरूर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments