डायबिटीज को नियंत्रण में रखने के लिए आज से ही शुरु कर दें ये 7 घरेलू उपाय, न होगी किडनी खराब और न ही आंखें कमजोर

कल्याण आयुर्वेद- डायबिटीज शुगर की बीमारी तेजी से अपना पांव पसार रहा है. डायबिटीज एक ऐसी बीमारी है जो एक बार किसी को हो जाए तो वह पूरी जिंदगी उसका साथ नहीं छोड़ता है. लेकिन खानपान और रहन-सहन में बदलाव कर दिया जाए तो इसे नियंत्रण में रखना आसान हो जाता है. डायबिटीज के मरीजों को हमेशा शरीर को सक्रिय रखना चाहिए यानि शारीरिक एक्टिविटी अधिक करनी चाहिए. इससे कुछ हद तक डायबिटीज को नियंत्रित करने में मदद मिलती है.

डायबिटीज को नियंत्रण में रखने के लिए आज से ही शुरु कर दें ये 7 घरेलू उपाय, न होगी किडनी खराब और न ही आंखें कमजोर

मोटापा और डायबिटीज के मुख्य कारण आज की अस्त-व्यस्त जीवन शैली, गलत खानपान हैं, लेकिन लाइफस्टाइल और भोजन में सुधार करके हम इन समस्याओं से बच सकते हैं.

डायबिटीज में ब्लड शुगर का लेवल बहुत अधिक हो जाता है जिससे शरीर की इंसुलिन उत्पादन क्षमता प्रभावित होने लगती है. कई बार ऐसा भी होता है कि शरीर सक्रिय रूप से इंसुलिन का इस्तेमाल ही नहीं कर पाता है. डायबिटीज किडनी, आँखें और लीवर को सबसे ज्यादा नुकसान पहुचता है. इसलिए शुगर लेबल को हमेशा नियंत्रित रखना जरुरी है.

डायबिटीज को नियंत्रित करने के लिए आज से ही शुरु कर दें ये 7 घरेलू उपाय-

1 .तुलसी की पत्तियां- तुलसी की पत्तियों में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं. इसके अलावा इसमें कई ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो पेनक्रिएटिक बीटा सेल्स को इंसुलिन के प्रति सक्रिय बनाती है. यह सिर्फ इंसुलिन के स्राव को बढ़ाती है. सुबह उठकर खाली पेट दो से तीन तुलसी की पत्तियां चबायें. आप चाहे तो तुलसी का रस भी पी सकते हैं. इससे ब्लड शुगर लेवल नियंत्रित होता है.

2 .दालचीनी- दालचीनी का इस्तेमाल मसाले के रूप में किया जाता है. दालचीनी के प्रयोग से इंसुलिन संवेदनशीलता बढ़ती है. यह ब्लड में शुगर के लेबल को कम करने और नियंत्रित करने में मददगार होता है. दालचीनी के नियमित सेवन से मोटापा को भी कम किया जा सकता है. इसके लिए दालचीनी को महीन पीसकर पाउडर बना लें और गुनगुने पानी के साथ सेवन करें. इसकी मात्रा का विशेष ध्यान रखें. बहुत अधिक मात्रा में यह पाउडर लेना नुकसानदायक हो सकता है.

3 .ग्रीन टी- ग्रीन टी में उच्च मात्रा में पॉलिफिनोल पाया जाता है यह एक सक्रिय एंटीऑक्सीडेंट है जो ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में मददगार होता है. प्रतिदिन सुबह और शाम ग्रीन टी पीने से शुगर लेवल को नियंत्रित करने में मदद मिलती है.

4 .लहसुन- लहसुन में एलीसिन नामक कंपाउंड होता है जो शरीर में ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखने में मददगार होता है. यह बीटा सेल्स के उत्पादन को उत्तेजित करता है.

5 .मेथी- डायबिटीज के मरीजों को मेथी का साग खाना काफी लाभदायक होता है. आपको साग न मिल पाए तो आप मेथी दाने को हल्का भुन लें और आधा से एक चम्मच की मात्रा में सुबह खाली पेट नियमित सेवन करें. इससे शुगर लेवल नियंत्रित रहता है.

6 .सहजन- सहजन की पत्तियों का रस भी डायबिटीज को नियंत्रित करने में काफी मददगार होता है. सहजन की पत्तियों को पीसकर रस निचोड़ लें और सुबह खाली पेट इसका सेवन करें. इसके सेवन करने पर शुगर लेबल नहीं बढ़ता है.

7 .जामुन- जामुन की गुठली डायबिटीज को नियंत्रित करने में काफी मददगार होता है. इसके लिए जामुन के बीजों को अच्छी तरह से सुखा लें और पीसकर पाउडर बना लें. अब एक चम्मच की मात्रा में सुबह खाली पेट गुनगुने पानी के साथ सेवन करें. इसके सेवन से डायबिटीज नियंत्रित रहता है.

यह जानकारी अच्छी लगे तो लाइक, शेयर जरूर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments