सर्दियों में शरीर के इन हिस्सों पर प्रतिदिन करें तेल का उपयोग कई बीमारियां रहेगी आपसे दूर

कल्याण आयुर्वेद- सर्दियों में शरीर के हर हिस्से में तेल लगाना काफी फायदेमंद होता है क्योंकि सर्दियों में हमारी त्वचा में पानी की कमी हो जाती है जिससे त्वचा में खुरदरापन, चिमचिमाहट जैसी समस्या हो जाती है और हमेशा शरीर में चुनचुनाहट महसूस होता है. ऐसे में यदि नहाने के बाद सरसों, जैतून या फिर नारियल तेल की मालिश कर लिया जाए तो यह समस्याएं नहीं होती है.

सर्दियों में शरीर के इन हिस्सों पर प्रतिदिन करें तेल का उपयोग कई बीमारियां रहेगी आपसे दूर

लेकिन शरीर के कुछ ऐसे हिस्से हैं जिसमें प्रतिदिन तेल लगाना काफी फायदेमंद होता है. इससे कई बीमारियों से बचाव करने में मदद मिलती है.

नाभि में-

सर्दियों में सरसों का तेल नाभि जरूर डालना चाहिए. क्योंकि नाभि से सारे नाड़ियों का समागम होता है. रात को सोते समय तलवा में भी सरसों का तेल लगाएं इससे नींद अच्छी आती है.

कान में-

मनुष्य को कान में प्रतिदिन तेल डालना चाहिए. खासकर सर्दियों में- इससे ऊंचा सुनना, बहरापन, कान के रोग नहीं होते हैं. तेल हल्का गुनगुना ही डालें. ध्यान रहे अधिक गर्म ना हो.

सिर में-

तिल, जैतून व सरसों का तेल सिर में लगाएं. नारियल का तेल ठंडा होता है इसलिए ठंड में इसका इस्तेमाल नहीं करें. सिर में तेल लगाने से बालों का गिरना सफेद या भूरा होना, गंजापन, सिर दर्द और अन्य वात रोग दूर होते हैं.

पैरों में-

पैर में तेल लगाने से पैरों का खुरदुरापन, रूखापन, शिथिलता, थकावट, सुन्न होना, पैरों का फटना आदि दूर होता है. इतना ही नहीं नियमित पैरों में तेल लगाने से आंखों की दृष्टि तेज होती है. तेल के अलावा लौकी, खीरा और अन्य औषधीय द्रव्यों को मलने से भी बहुत से रोग दूर होते हैं.

नाक में-

नहाने से पहले नाक में सरसों तेल लेकर ऊपर की ओर खींचे. जिससे सिर में साइनस जैसी बीमारियां ठीक होती है. इससे सर्दी- जुकाम से राहत मिलता है जो हाथ में बच जाए उसे सिर के बालों में लगाएं. नहाने के बाद ठंड से बचाव होगा. इससे गर्दन के ऊपर के सभी रोग दूर होते हैं. ऐसा करने से लकवा, सिर दर्द और सूजन ठीक होता है.

यह जानकारी अच्छी लगे तो लाइक, शेयर जरूर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments