डायबिटीज के मरीज हैं तो हर तरह के खानों को इस तरह करें सेवन, रहेंगे स्वस्थ और चुस्त-दुरुस्त

कल्याण आयुर्वेद- आज के समय में डायबिटीज एक आम बीमारी बनती जा रही है. डायबिटीज का पता चलते ही यह आपके दैनिक आहार में भी काफी बदलाव ला देता है. आपको लगता है कि अब आप अपनी पसंद की स्वादिष्ट चीजें नहीं खा पाएंगे या अब आपको परहेज की खाना खाने की आवश्यकता है. लेकिन यह बिल्कुल भी सच नही हैं. लेकिन जरूरत इस बात की है कि आप यह जान सके कि डायबिटीज में कौन सही है और कौन सही नही है. कैलोरी काउंट इन सर्विस द फूड एनालिस्ट के संस्थापक कुछ आसान टिप्स बता रहे हैं. जिससे आप अपने खाने को डायबिटीज के अनुकूल बना सकते हैं.

डायबिटीज के मरीज हैं तो हर तरह के खानों को इस तरह करें सेवन, रहेंगे स्वस्थ और चुस्त-दुरुस्त

ज्यादा वसा युक्त मीट के बदले कम फैट वाला मीट खाएं-

आपकी कोशिश रहनी चाहिए कि आप कम फैट वाला मीट कम हाई कैलोरी युक्त भोजन का सेवन करें. इसके अलावा आप स्वादिष्ट भोजन बनाने के लिए अन्य तरीकों के साथ प्रयोग करने का तरीका ढूंढ सकते हैं.

खाना पकाने की दूसरी तकनीक भी इस्तेमाल कर सकते हैं?

आप खाने को फैट फ्री बनाने के लिए उसे भूनने के साथ ड्रिलिंग हल्का तलकर रोस्टिंग स्टीमिंग और बेकिंग के जरिए स्वादिष्ट बनाने की कोशिश कर सकते हैं.

फैट को कहें बाय-

प्रोटीन की स्किन और उससे जुड़ा फैट है आमतौर पर स्वाद को बढ़ाते हैं, लेकिन इसमें सैचुरेटेड फैट की मात्रा काफी अधिक होती है. ऐसे में आपको खाना पकाने से पहले सभी तरह की फैट को हटा देना चाहिए. ऐसा करने के बाद मांस और उसके स्वाद का आनंद ले सकते हैं वह भी बिना हानिकारक.

अपने किचन में डायबिटीज फ्रेंडली मसाले बढ़ा दे-

अपनी रसोई में कुछ ऐसी जड़ी- बूटियों और मसालों को जगह दें जो डायबिटीज के अनुकूल हो और आपके खाने का स्वाद भी बढ़ाने में मददगार हो.

अपने आहार में मछली को जगह दें-

डायबिटीज से ग्रसित लोगों के लिए सीफूड भोजन का एक बढ़िया विकल्प है क्योंकि मछली में मौजूद ओमेगा 3 फैटी एसिड आपके दिल को स्वस्थ और बेहतर स्थिति में रखने में मदद करता है.

हरी सब्जियों और अनाज की अनदेखी ना करें-

फाइबर से समृद्ध हरी सब्जियों का इस्तेमाल करते रहे, क्योंकि उसमें कार्ब होते हैं इसके अलावा घर पर हमेशा साबुत अनाज और फाइबर युक्त अनाज रखें. फाइबर हमारे खून में ग्लूकोज गति को धीमा कर देता है और इंसुलिन के प्रतिरोध को भी कम करने में मददगार होता है.

घर से बाहर खाना खाने के दौरान आप खाने में इस्तेमाल की गई सामग्री और उसे पकाने के तरीकों को नियंत्रित नहीं कर सकते हैं तो घर पर ज्यादा से ज्यादा खाने पकाने की प्राथमिकता दें और आसानी से इस्तेमाल में लाई जा सकने वाले टिप्स पर अमल करने की कोशिश करें. इससे आपको अपने आहार से समझौता किए बिना इसके अलावा आपका पूरा परिवार एक साथ मिलकर इस तरह के पोषण और स्वास्थ्य वर्धक खाने का लुफ्त उठा सकता है.

नोट- यह पोस्ट शैक्षणिक उद्देश्य से लिखा गया है अधिक जानकारी के लिए आप अपनी डाइटिशियन की सलाह जरूर लें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments