कहीं मिल जाए यह फल तो छोड़ना मत, नामर्दी और खून की कमी जैसी कई बीमारियों को जड़ से करता है खत्म

कल्याण आयुर्वेद- प्रकृति ने हमारे आसपास कई ऐसे पेड़ पौधों को जन्म दिया है जो पर्यावरण को शुद्ध करने के साथ ही हमारे स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद होते हैं. लेकिन इसके बारे में जानकारी न होने के कारण हम इसका सही उपयोग नहीं कर पाते हैं और हम इसे बेकार ही समझ लेते हैं. तो आज हम आपको एक ऐसे फल के बारे में बताने जा रहे हैं जो मर्दानगी बढ़ाने के साथ ही शरीर में खून की कमी दूर करता है और कई जटिल बीमारियों को जड़ से खत्म करने की शक्ति रखता है.

कहीं मिल जाए यह फल तो छोड़ना मत, नामर्दी और खून की कमी जैसी कई बीमारियों को जड़ से करता है खत्म

जी हां, हम जिस फल के बारे में बात कर रहे हैं वह है बालम खीरा. यह हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी लाभदायक होता है. इसका इस्तेमाल हमारे पूर्वजों ने सदियों से करते आ रहे हैं. इस फल का पौधा लगभग समस्त भारत में पाया जाता है. इसके प्रयोग से कई बीमारियों को जड़ से खत्म किया जा सकता है.

बालम खीरा का इस्तेमाल मधुमेह, निमोनिया, गुर्दे की पथरी, पेचिश, चर्म रोग, गठिया, दांत दर्द, पाचन संबंधी समस्याओं को दूर करने के लिए किया जाता है.

इसके अलावा नामर्दी, आंतों की सूजन, बालों का जल्दी सफेद होना, कमर दर्द और जोड़ों का दर्द को दूर करने की शक्ति इसमें होती है.

पथरी की समस्या को दूर करने के लिए बालम खीरा को रामबा माना जाता है. अगर किसी को पथरी की समस्या हो तो बालम खीरा को अच्छी तरह से सुखाकर पीसकर पाउडर बना लें और इसमें काला नमक मिलाकर 4 से 8 ग्राम की मात्रा में सुबह-शाम पानी के साथ सेवन करें तो पथरी समस्या दूर हो जाती है.

अगर किसी को निमोनिया की समस्या है तो इसकी छाल को पीसकर सुबह खाली पेट सेवन करने से बहुत जल्दी राहत मिलता है.

बालम खीरा के रस शहद के साथ नियमित सेवन करने से खून की कमी दूर हो जाती है और जिन्हें शीघ्रपतन और नामर्दी की समस्या है उनके लिए तो यह रस रामबाण की तरह काम करता है.

दो चम्मच खीरे का रस, आधा चम्मच नींबू का रस और चुटकी भर हल्दी को अच्छी तरह से मिलाकर चेहरे पर लगाएं और सूखने के बाद साफ पानी से चेहरा धो लें. ऐसा करने से चेहरे पर निखार आ जाता है.

बालम खीरा का रस प्रतिदिन त्वचा पर लगाने से झुर्रियां खत्म हो जाती है.

अगर गर्मी के कारण सिर में चक्कर आ रहा हो तो खीरे का रस पीने से ठीक हो जाता है क्योंकि इसकी तासीर ठंडी होती है.

सर्दियों में अक्सर होठ फटने की समस्या हो जाती है. ऐसे में बालम खीरा का रस निकालकर होठों पर लगाने से होठों का फटना रुक जाता है और होठ मुलायम हो जाते हैं.

Post a Comment

0 Comments