हार्टअटैक आने पर तुरंत करें यह उपाय, बच जाएगी पीड़ित की जान

कल्याण आयुर्वेद- आजकल के भागदौड़ भरी जिंदगी में हर आदमी कुछ न कुछ तनाव में रहता है.इस वजह से हर किसी को कुछ न कुछ अलग-अलग बीमारी घेर लेती है.लेकिन कुछ ऐसी भी बीमारी होरी है.जो व्यक्ति को पता भी नही होता है.वह बीमारी आने से पहले संकेत तो देता है लेकिन आदमी समझ नही पाता है या फिर नजर अंदाज कर देते है.जैसे की हार्ट अटैक.यह बीमारी आदमी को एकाएक हो जाता है.किसी- किसी को तो हार्ट अटैक होने पर मौत तक हो जाती है.क्योंकि हार्ट अटैक आने पर हमे पता नही होता है कि क्या करना चाहिए.

तो आज हम इस विषय पर विशेष जानकारी के साथ बात करने जा रहे हैं.इसलिए इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ें.ताकि आप किसी को हार्ट अटैक आने पर मदद कर सकें.
तो चलिए जानते हैं विस्तार से-
हार्ट अटैक क्या है ?
हार्ट अटैक तब होता है जब किसी व्यक्ति के धमनियों में ब्लड सर्कुलेशन में रुकावट आती है.जो रक्त प्रवाह को बाधित करता है.अगर इस रक्त प्रवाह को जल्दी बहाल नही किया जाता है.तो ऑक्सीजन और पोषक तत्व की अनुपस्थिति के कारण ह्रदय की मांसपेशियों को बहुत नुकसान पहुचता है.और धड़कन रुकने के कारण जान जा सकती है.
google-Copyright Holder: Kalyan ayurved
हार्ट अटैक से पहले ये सामान्य लक्षण दिखाई देते हैं.
1 .थकान-अगर कोई काम किये बिना भी थकावट हो तो हार्ट अटैक हो सकता है.कई बार भरपूर नींद लेने के बाद भी लोग आलस्य और थकान का अनुभव करते हैं.और दिन में भी सोते हैं.
2 .नींद नही आना-हार्ट अटैक की यह चेतावनी होती है कि आपको रात में नींद नही आती है.मन हमेशा अशांत रहता है.मन में कुछ हमेशा गलत होने की बात आती रहती है.और आप रात में अक्सर जागते रहते हैं.आपको रात में बार-बार प्यास और पेशाब परेशान करती रहती है.अगर नींद नही आने की समस्या हो और आप समझ नही पा रहे हों तो डॉक्टर से संपर्क करें.
3 .सांस लेने की परेशानी-अगर सांस लेने में किसी कारण कारण से समस्या आ रही है तो हार्ट अटैक आ सकता है.दिल की उचित काम नही करने के कारण ऑक्सीजन की मात्रा जो फेफड़ों तक नही पहुच पाती है.जो इसकी जरुरत होती है.सांस लेने में दिक्कत होती है.
4 .सीने में जलन-आपकी छाती में असुबिधा हार्ट अटैक के लिए जिम्मेदार होता है.छाती में बिना किसी चोट-चपेट के दर्द हार्ट अटैक का शिकार बना सकता है.इसलिए अगर साइन में जलन या दर्द है तो डॉक्टर की सलाह लें.
5 .खट्टी डकार-यह समस्या अक्सर अधिक तेल- मशाला के सेवन से होती है.लेकिन खट्टी डकार की समस्या लगातार बनी रहे तो यह सामान्य लक्षण नही है.इसकी जांच कराएं.
6 .दुर्बलता-अगर आपके दिल को पर्याप्त माता में ऑक्सीजन नही मिल रहा है तो यह आपके रीढ़ को प्रभावित करेगा.जब ऐसा होता है तो आपके ह्रदय रीढ़ और बाँहों से जुड़े तंत्र प्रभावित होते हैं.जिसमे आपके हाथों में दर्द हो रहा है.अगर आपके हाथ बार-बार सुन्न होते हैं.तो यह हार्ट अटैक पड़ने का संकेत है.
हार्ट अटैक आने पर तुरंत करें यह उपाय-
1 .हार्ट अटैक आने पर सबदे पहले उसके टाईट कपड़े ढीले करें.और उसे समतल जगह पर लिटा दें.मरीज के सिर को निचे की तरफ करके पैर की तरफ थोडा उचा रखें.इससे पैरों की ब्लड सप्लाई हार्ट की तरफ होगी.
2 .अगर मरीज को उल्टी आ रही है तो उसका मुंह एक तरफ करके मुंह खोल दें.ताकि दम नही घुटे.
3 .मरीज की नब्ज और सांस चेक करें अगर नही चल रही है तो सी पी आर करें.और हॉस्पिटल तक पहुचाएं.इसे करने के लिए मरीज को कमर के बल लिटाकर अपनी हथेलियों को मरीज के सिने के बीच रखकर हाथों को निचे की तरफ दबाएँ.इस तरह प्रति मिनट कम से कम 100 बार तक करें.
4 .अक्सर हार्ट आते होने पर सांस लेने में मरीज को तकलीफ होती है.इसलिए अपने अँगुलियों से मरीज की नाक दबाकर अपने मुंह से धीरे-धीरे सांस दें.इस तरह 3-4 मिनट तक सांस देने से मरीज की फेफड़ों तक पहुच जाएगी जिससे मरीज को राहत मिलेगी.
5 .अगर घर में एस्पिरिन है तो उन्हें चबाने के लिए दें.और उन्हें लम्बी सांस लेने के लिए कहें.
इसके अलावा अगर रोगी बेहोश हो तो उसके मुंह में लाल मिर्च छठा दें.और होश में आटे ही लाल मिर्च का घोल बनाकर पीला दें.क्योंकि लाल मिर्च में मौजूद कैल्सियम,जिंक,मैग्नेशियम,विटामिन्स होते हैं.और लाल मिर्च की तासीर गर्म होती है.इस कारण ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है.तथा लाल मिर्च पिलाने के बाद व्यक्ति को खांसी आएगी.जिस वजह से सांस अन्दर अच्छे से जाएगी.और ब्लड सर्कुलेशन भी तेज हो जायेगा.लाल मिर्च खून को पतला करता है.क्योंकि लाल मिर्च में हेपेरिन मौजूद होते हैं जो बार-बार खांसी होने से और ब्लड सर्कुलेशन तेज होने से धमनियों के छोटे-छोटे रुकावट खुल जायेंगे.इसलिए इस उपाय को तुरंत करने से हार्ट अटैक आए व्यक्ति की जान बचाई जा सकती है.
google-Copyright Holder: Kalyan ayurved
नोट-अगर किसी व्यक्ति को हार्ट अटैक आ जाए तो उसे तुरंत डॉक्टर या हॉस्पिटल ले जाने की व्यवस्था करनी चाहिए.
दोस्तों,हम आशा करते हैं की यह जानकारी आपको जरुर अच्छी लगी होगी.क्योंकि यह जानकारी कभी भी काम आ सकती है.अगर आपके पास भी हार्ट अटैक से जुडी कोई जानकारी है तो कमेन्ट में जरुर बताएं.धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments