गर्भवस्था में आयरन और कैल्सियम की कमी से होती है ये समस्या, न करें नजरअंदाज

कल्याण आयुर्वेद- प्रेगनेंसी के दौरान महिला को भरपूर मात्रा में पोषक तत्व, मिनरल्स, विटामिंस लेने की सलाह दी जाती है ताकि इससे प्रेग्नेंट महिला को स्वस्थ रहने के साथ गर्भस्थ शिशु को भी स्वस्थ रहने में मदद मिल सके और यदि गर्भवती महिला के शरीर में पोषक तत्व की कमी होती है तो इसकी वजह से गर्भावस्था के दौरान महिला को कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है. साथ ही शिशु के विकास में भी कमी आ सकती है. इसलिए प्रेगनेंसी के दौरान डॉक्टर द्वारा भी गर्भवती महिला को फोलिक एसिड, आयरन, कैल्शियम आदि की गोलियां खाने की सलाह दी जाती है. लेकिन गर्भवती महिला इसका सेवन सही तरीके से नहीं करती है तो गर्भावस्था के दौरान महिला की परेशानियां बढ़ सकती है. इसलिए डॉक्टर के द्वारा दी गई दवाइयों का सेवन नियमित करना चाहिए.

गर्भवस्था में आयरन और कैल्सियम की कमी से होती है ये समस्या, न करें नजरअंदाज
तो चलिए जानते हैं गर्भावस्था में कैल्शियम और आयरन की कमी से होने वाले समस्या के बारे में-

1 .एनीमिया की समस्या-

एनीमिया की समस्या के कारण शरीर में खून की कमी होना होता है और इसके कारण गर्भ शिशु के विकास में भी कमी आने के साथ-साथ कमजोरी थकान और प्रसव के दौरान परेशानी शक्कर आदि की समस्या का सामना गर्भवती महिला को करना पड़ सकता है. इसलिए गर्भावस्था के दौरान खुद को स्वस्थ रखने के लिए और शिशु के बेहतर विकास के लिए आयरन की कमी ना हो. इसलिए एनीमिया की समस्या ना हो. आयरन का सेवन करना चाहिए.
2 .हड्डियों मे कमजोरी-
गर्भस्थ शिशु के बेहतर विकास और गर्भवती महिला को गर्भावस्था के दौरान स्वस्थ और फिट रहने के लिए बहुत जरूरी होता है कि उसके शरीर में कैल्शियम की मात्रा भरपूर हो. क्योंकि शरीर में कैल्शियम की कमी होने के कारण अपनी जरूरत को पूरा करने के लिए कैल्शियम हड्डियों से लेने लगता है. जिसके कारण हड्डियों में कमजोरी आ सकती है. इसलिए प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला और गर्भ में पल रहे शिशु की हड्डियों की मजबूती के लिए कैल्शियम व आयरन की मात्रा भरपूर लेना जरूरी होता है.
3 .शिशु के विकास में कमी-
गर्भ में पल रहे शिशु का विकास पूरी तरह से गर्भवती महिला के स्वास्थ्य पर निर्भर करता है. लेकिन यदि गर्भवती महिला के शरीर में पोषक तत्वों की कमी जैसे- कैल्शियम, आयरन की कमी होती है तो इसके वजह से शिशु कोगर्भ में पोषक तत्व भरपूर मात्रा में नहीं मिल पाते हैं और पोषक तत्वों की कमी के कारण शिशु के शारीरिक विकास में बाधा पहुंचती है. जिससे उसका शरीर सही ढंग से विकसित नहीं हो पाता है.
4 .शरीर में दर्द और कमजोरी-
गर्भावस्था के दौरान शरीर में दर्द और कमजोरी होना एक आम समस्या होती है. जिसका मुख्य वजह होता है शरीर में आयरन व कैल्शियम की कमी और इसकी कमी होने के कारण महिला को पेट में दर्द सिर में दर्द जोड़ों में दर्द जल्दी थक जाना कमजोरी का अनुभव होने की समस्या होने लगती है. जिसके कारण गर्भावस्था के दौरान महिला को ज्यादा परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है.
5 .ऑक्सीजन सही तरीके से नहीं मिल पाती है-
लाल रक्त कोशिकाओं के माध्यम से ही शरीर के सभी अंगों और उसको तक पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन का संचालन होता है और गर्भस्थ शिशु को भी रक्त के माध्यम से ही ऑक्सीजन प्राप्त होती है. ऐसे में प्रेगनेंसी के दौरान आयरन की कमी होने पर पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन नहीं पहुंच पाती है जो कि गर्भवती महिला और गर्भस्थ शिशु दोनों के लिए नुकसानदायक होता है.
तो यह है कुछ नुकसान जो गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को कैल्शियम और आयरन की कमी के कारण हो सकते हैं. इसके अलावा गर्भावस्था के दौरान कैल्शियम और आयरन की दवाइयों का सेवन कभी भी आपको खाली पेट नहीं करना चाहिए खाना खाने के आधे घंटे बाद ही इसका सेवन करें. क्योंकि खाली पेट सेवन करने से आपको मुंह सूखना, बार- बार पेशाब जाने की इच्छा, मुंह का स्वाद खराब होना, उल्टियां होना, कभी पेट में गैस, भूख न लगना, पेट में दर्द आदि समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है.

Post a Comment

0 Comments