केले के छिलके से कैसे बढ़ाएं चेहरे की सुंदरता ? लड़कियां जरुर जानें

कल्याण आयुर्वेद- लड़का हो या लड़की हर किसी की चाहत होती है कि उसका चेहरा हमेशा चमकदार बना रहे और इसके लिए ना जाने कई तरह की क्रीम, पाउडर, फेस वास इत्यादि का इस्तेमाल करते हैं. लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी केला खाने के बाद केले के छिलके बेकार हो जाते हैं जो आपकी सुंदरता को बढ़ाने में आपकी मदद कर सकते हैं?

केले के छिलके से कैसे बढ़ाएं चेहरे की सुंदरता ? लड़कियां जरुर जानें

चलिए जानते हैं विस्तार से-

केला खाने के बाद हम केले के छिलकों की अहमियत नहीं देते हैं और इसे फेंक देते हैं. लेकिन अगर हम आपको ऐसा नहीं करने को कहें तो आपको लगेगा कि यह बेकार चीज हम रख कर क्या करेंगे? लेकिन आपको बता दें कि यह आपकी त्वचा के लिए काफी फायदेमंद होता है.

केले के छिलके में बहुत से जरूरी फायदेमंद पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो स्वास्थ्य के साथ-साथ त्वचा के लिए भी लाभदायक होते हैं. कई जगह पर केले के छिलकों का आटा बनाया जाता है और इसे इस्तेमाल किया जाता है. यह शरीर को जरूरी पोषण प्रदान करता है. आपको बता दें कि केले के छिलकों में एंटीऑक्सीडेंट, एंटी फंगल, एंटी बैक्टीरियल प्रॉपर्टी होती है. साथ में विटामिन B6, B12, मैग्नेशियम और पोटेशियम पाया जाता है.

त्वचा की समस्याएं जैसे एक्ने, पिंपल्स, डार्क सर्कल्स, झुर्रियां, दाग- धब्बे और आंखों के नीचे आई सूजन को कम करने के लिए केले के छिलकों का इस्तेमाल काफी फायदेमंद साबित होता है. बस इसे इस्तेमाल करने का तरीका आपको मालूम होना चाहिए.

एजिंग से लड़ने में करता है मदद-

प्रदूषण, सही केयर ना करना और उम्र बढ़ने के साथ-साथ त्वचा पर एजिंग के निशान दिखने लगते हैं. ऐसे में प्राकृतिक ऑक्सीडेशन प्रोसेस के कारण होता है. जिसके कारण त्वचा की इलास्टिसिटी कम होने लगती है और झुर्रियां, फाइन लाइंस दिखने लगती है. केले के छिलके में एंटी ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं. एंटीऑक्सीडेंट ऑक्सीडेशन प्रोसेस को कम करते हैं. त्वचा को टाइट बनाने में मदद करते हैं. स्ट्रेच को भी दूर करते हैं. जिससे फाइन लाइंस और झुर्रियों को कम करने में मदद मिलती है.

इसके लिए केले के छिलके का इनर पार्ट त्वचा पर रगड़े कुछ देर ऐसा ही करने के बाद त्वचा को 20 से 30 मिनट तक रेस्ट करने दे और चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें. इसके बाद मॉइश्चराइजर लगा लें.

एक्ने, पिंपल्स को करता है कम-

केले के छिलकों में एंटीमाइक्रोबियल और एंटीबैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं. यह बैक्टीरियल इंफेक्शन और इरेक्शन को कम करने में मददगार होते हैं. एक्ने और पिंपल्स कई बार बैक्टीरिया इन्फेक्शन की वजह बन जाते हैं. इसलिए केले का छिलका त्वचा पर लगाने से एक्ने और पिंपल्स को कम करने में मदद मिलती है.

इसके लिए पहले चेहरे को फेसवास से धो लें और तौलिये से थोड़ी सी ड्राई कर लें. ताकि कोई गंदगी या धुल- मिट्टी चेहरे पर ना रहे. अब केले के छिलके को चेहरे पर एक्ने वाले हिस्से पर तब तक हल्के हाथों से लगाए, जब तक कि छिलका भूरा ना हो जाए. थोड़ी देर के लिए छोड़ दें. ताकि त्वचा न्यूट्रिशन को एब्जोर्ब कर ले. अब चेहरा गुनगुने पानी से धो लें.

आंखों के नीचे काले घेरे को करता है ख़त्म-

रात में नींद पूरी ना होना, ज्यादा तनाव लेना या शरीर को सही न्यूट्रिशन ना मिलने के कारण आंखों के नीचे डार्क सर्कल और सूजन आ जाती है. इसे पप्फी आई भी कहा जाता है. इसे कम करने के लिए आप आंखों के नीचे केले के छिलकों को लगा सकती हैं. केले के छिलके में एंटी इन्फ्लेमेटरी प्रॉपर्टी पाई जाती है जो आंखों के नीचे की सूजन को कम करती है. आंखों के नीचे की त्वचा को टाइटनेस प्रदान करता है और डार्क सर्कल को कम करता है.

इसके लिए एक चम्मच की मदद से केले के छिलके से थोड़ा सा फाइबर निकाल लें और इसमें थोड़ा एलोवेरा जेल मिलाएं. इसका इस्तेमाल आंखों के नीचे के एरिया में करें. 15-20 मिनट तक इसे रहने दें फिर गुनगुने पानी से धो लें.

Post a Comment

0 Comments