यह लक्षण शरीर में दिखे तो हो जाएं सावधान, हो सकता है इस गंभीर बीमारी का खतरा

कल्याण आयुर्वेद- जब हमारे शरीर में कोई भी बीमारी दाखिल होती है तो इसके संकेत मिलने शुरू हो जाते हैं. जिसे कई बार छोटी- मोटी समस्या समझते हैं, इसे नजरअंदाज कर देते हैं, लेकिन यह कोई गंभीर बीमारी का लक्षण होता है और यदि इन लक्षणों को नजरअंदाज कर दिया जाता है तो यह गंभीर रूप धारण कर लेता है.

यह लक्षण शरीर में दिखे तो हो जाएं सावधान, हो सकता है इस गंभीर बीमारी का खतरा

तो आज हम आपको डायबिटीज के लक्षण के बारे में बताने जा रहे हैं जो शुरुआत में आम नजर आता है. लेकिन इस पर ध्यान नहीं दिया जाए तो यह गंभीर रूप धारण कर लेता है और हमें कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है.

प्यास का अधिक लगना- डायबिटीज का प्रमुख लक्षण काफी प्यास लगना है. आमतौर पर प्यास लगने पर हम पानी पी लेते हैं, जिससे हमारी प्यास बुझ जाती है. लेकिन डायबिटीज की स्थिति में ऐसा नहीं बल्कि डायबिटीज होने पर व्यक्ति को काफी प्यास लगती है और बार-बार पानी पीने की इच्छा होती है.

बार-बार पेशाब आना- बार- बार पेशाब का आना डायबिटीज के लक्षण में शामिल है. हालांकि ज्यादातर लोग इसे किडनी का लक्षण मानते हैं लेकिन उन्हें किसी भी निर्णय पर नहीं पहुंचना चाहिए क्योंकि डायबिटीज का संकेत भी हो सकता है.

बहुत अधिक भूख लगना- आपने अक्सर ऐसे लोगों को देखे होंगे कि थोड़ी- थोड़ी देर में भोजन करते रहते हैं. ज्यादातर ऐसे लोगों का मजाक बनाते हैं और उन्हें भुख्खड़ कह कर चिढ़ाते हैं लेकिन कई बार यह डायबिटीज का संकेत हो सकता है. जिसकी सूचना डॉक्टर को देना बेहतर हो सकता है क्योंकि यह डायबिटीज के लक्षण में शामिल है.

अचानक वजन कम होना- यदि किसी व्यक्ति का काफी तेजी से वजन कम हो रहा है जबकि उसका खानपान सही है तो इस समस्या को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए. क्योंकि यह डायबिटीज का लक्षण हो सकता है.

थकान महसूस होना- कोई भी व्यक्ति काफी देर तक मेहनत करता है तो थकान महसूस होना स्वभाविक है लेकिन जब कोई व्यक्ति थोड़ी सी मेहनत करने के बाद भी काफी थकान महसूस करता है तो यह आम चीज नहीं है क्योंकि यह डायबिटीज का लक्षण हो सकता है.

घाव का देर से भरना- कई बार कट- छिल जाने पर इलाज होने के बावजूद भी घाव जल्दी नहीं भरते हैं. ऐसे में बिना देर किए अपने ब्लड शुगर की जांच करानी चाहिए. यह भी डायबिटीज के लक्षण शामिल है.

आंखों की रोशनी में बदलाव आना- आज के समय में एक उम्र के बाद आंखों की रोशनी में बदलाव आना कोई बड़ी बात नहीं है. लेकिन यदि यह बदलाव बार-बार आने लगे यानी आपकी रोशनी बार-बार कम या ज्यादा हो रही है और आपके चश्मे के नंबर बदल रहे हैं तो ऐसे में आपको डायबिटीज की जांच करानी चाहिए. क्योंकि यह डायबिटीज के लक्षणों में शामिल है.

इसलिए ऐसी लक्षण दिखे तो व्यक्ति को इसे नजरअंदाज नहीं करना चाहिए, बल्कि डॉक्टरी सलाह लेना चाहिए ताकि डायबिटीज गंभीर अवस्था में न पहुंच पाए और इसे समय रहते काबू में कर लिया जाए.

यह जानकारी अच्छी लगी तो लाइक, शेयर जरूर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments