टालना चाहते हैं बुरा समय और शत्रु को करना है परास्त तो आज ही करें यह उपाय

ज्योतिष शास्त्र- हर किसी की चाहत होती है कि उसके पास इतना धन- दौलत हो कि उसे किसी चीज की कमी महसूस ना हो और इसके लिए लोग दिन- रात मेहनत, मजदूरी करते हैं. कुछ लोग तो मेहनत करने के बाद कामयाबी हासिल कर लेते हैं लेकिन कई लोग काफी मेहनत करने के बावजूद भी असफल रह जाते हैं.

टालना चाहते हैं बुरा समय और शत्रु को करना है परास्त तो आज ही करें यह उपाय

शास्त्रों की माने तो कई बार ऐसा ग्रह दोष खराब चलने के कारण होता है तो कई बार बुरी नजर लग जाने के कारण ऐसा होता है या घर में नेगेटिव एनर्जी का असर है तो काफी मेहनत करने के बावजूद भी धन इकट्ठा नहीं होने के साथ कई तरह की परेशानियां होती रहती है.

ऐसे में ज्योतिष शास्त्र में कई ऐसे तंत्र उपाय करने के लिए बताया गया है जिसे करने से बुरा समय खत्म हो सकता है और आपका भाग्य साथ देने लगेगा.

तो ज्योतिष शास्त्र में बताए गए कुछ उपाय के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपके बुरा समय टाल सकता है और यदि कोई आपका शत्रु है तो आप उसे परास्त कर सकते हैं.

1 .सरसों के तेल से दीपक जलाएं और उसमें दो लौंग डाल दें और इससे बजरंगबली की आरती करें. यह उपाय प्रतिदिन करने से आपका बुरा समय टल जाता है और आप अनिष्ट शक्ति से भी बच्चे रहते हैं.

2 .आपके घर में किसी नेगेटिव एनर्जी का असर है तो प्रतिदिन सुबह कपूर जलाकर उसमें दो लौंग डालें और पूरे घर में घुमाएँ. इससे आपकी समस्या का हल हो सकता है. यह उपाय दुकान और ऑफिस में करने से तरक्की होने लगती है.

3 .अगर आप किसी जरूरी काम में सफलता पाना चाहते हैं और आपको बाधा उत्पन्न हो रही है तो एक नींबू के ऊपर चार लौंग लगाकर ॐ श्री हनुमते नमः का मंत्र 21 बार जाप कर उसे अपने साथ लेकर जाएं. आपका काम जरूर बन जाएगा.

4 .मंगलवार के दिन बजरंग बाण का पाठ करें और हनुमान जी को लड्डू का भोग लगाएं. इसके बाद 5 लौंग पूजा स्थान पर देसी कपूर के साथ जलाएं. जब यह जलकर राख हो जाए तो इसी राख से तिलक करें. यह प्रयोग आपके समस्त शत्रुओं को परास्त कर देगा.

5 .मंगलवार के दिन राम मंदिर जाएं और दाहिने हाथ के अंगूठे से हनुमान जी के सिंदूर लेकर सीता माता के चरणों में लगा दें. इससे आपकी हर मनोकामनाएं पूरी हो जाएगी. ध्यान रहे आपकी जो मनोकामना है उसे मन ही मन बोल दें.

यह जानकारी अच्छी लगे तो लाइक, शेयर जरूर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments