तो इसलिए शनिवार को खिचड़ी खाना माना जाता है शुभ, जानिए

ज्योतिष शास्त्र- खिचड़ी को ज्यादातर लोग बीमारों का भोजन समझते हैं. लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि खिचड़ी बहुत ही सुपाच्य भोजन होता है और सेहत के लिए काफी फायदेमंद भी होता है. इतना ही नहीं कुछ सब्जियों को मिलाकर यदि खिचड़ी बनाया जाता है तो यह खाने में काफी स्वादिष्ट भी होता है. लेकिन आपने कई लोगों से सुना होगा कि शनिवार को खिचड़ी खाना चाहिए. तो आज हम आपको बताने की कोशिश करेंगे कि शनिवार को खिचड़ी खाना क्यों बताया गया है शुभ.

तो इसलिए शनिवार को खिचड़ी खाना माना जाता है शुभ, जानिए

ज्योतिष शास्त्र में शनि के ग्रह को विशेष महत्व दिया जाता है. वही शनिदेव को न्याय का देवता के रूप में भी जाना जाता है. लेकिन फिर भी लोगों के मन में शनिदेव की छवि क्रोध बरसाने वाले देवता के रूप में बनी रहती है. इसका मुख्य कारण यह है कि शनिदेव की साढ़ेसाती का वक्र दृष्टि ज्योतिष शास्त्र की मानें तो इंसान के पूर्व और वर्तमान कर्मों की फल स्वरुप ही किसी के ऊपर शनि की साढ़ेसाती की दशा प्रभाव कारी होती है.

शनि देव के बारे में यह भी कहा जाता है कि शनिदेव जिस इंसान पर प्रसन्न होते हैं उसके जीवन में सफलता आने से कोई नहीं रोक सकता है. वही ज्योतिषशास्त्र में शनि देव को शांत रखने के लिए कुछ ऐसे उपाय बताए गए हैं, जिस उपाय को करने से शनि के प्रभाव को कम किया जा सकता है. जिसमें से एक शनिवार के दिन खिचड़ी खाना भी बताया गया है.

ज्योतिष शास्त्र की माने तो शनिवार के दिन उड़द दाल की खिचड़ी का सेवन करना अच्छा बताया गया है. इस खिचड़ी के सेवन से शनि दोष से राहत मिलती है. अगर जातक नियमित रूप से प्रति शनिवार को खिचड़ी खाए तो शनिदेव की कृपा प्राप्त कर सफलता हासिल कर सकता है.

जिस प्रकार शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए उन्हें सरसों में काला तिल डालकर अर्पित किया जाता है. ठीक उसी तरह काले तिल के सेवन से भी शनिदेव प्रसन्न होते हैं. इसलिए प्रत्येक शनिवार को काला तिल खाना चाहिए. इतना ही नहीं ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शनिवार को गुलाब जामुन खाने से भी शनि देव शांत होते हैं और उनकी कृपा आप पर बनी रहती है.

Post a Comment

0 Comments