सिर से लिक और जूं हटाने के बेहतरीन घरेलू नुस्खे, एक ही बार में दिखायेगा असर

कल्याण आयुर्वेद- जूँ और लीक प्रायः केशो में होती है. लेकिन सफेद और सूक्ष्म हैं जो काले तिल के समान काली और तिल की आकृति वाली बहुत पांव वाली होती है. यह स्वेद और मल से होती है. इसके होने से सिर में खुजली फुंसियां और गंड हो जाती है. मैंले वस्त्र धारण करने से और स्वच्छता नहीं रखने से त्वचा में भी जूँ पड़ जाती है. जो काटने जैसी पीड़ा खाज और फुंसियां उत्पन्न करती है.



सिर के जुए एवं लिक दूर करने के आयुर्वेदिक एवं घरेलू उपाय-

1 .सिरको आंवला, रीठे के पानी से साफ करना चाहिए तथा धतूरे के पत्तों का रस 1 लीटर और तिल का तेल आधा लीटर डालकर पकाएं. जब जब रस जलकर सिर्फ तेल बच जाए तो उतार कर छान लें और 10 ग्राम कपूर डालें और इस तेल को सिर पर नियमित लगाने से जूं और लीक नष्ट होती है.

2 .नीम के पत्तों को पीसकर पेस्ट तैयार करें. अब इस पेस्ट को सिर पर लगाएं. जब यह सूख जाए तो इसे पानी से धो लें. इससे सिर के जूँ और लिक को खत्म करने में मदद मिलती है. क्योंकि नीम की पत्तियों में नेचुरल एंटीसेप्टिक होती है जो जुओं को मारने का काम करती है.



3 .दो चम्मच नींबू का रस और एक चम्मच अदरक का पेस्ट मिलाकर सिर पर लगाएं. इसे 20 मिनट तक रहने दें. इसके बाद जब सूख जाए तो इसे ठंडे पानी से धो लें. इसे सप्ताह में एक से दो बार करें. आपको जूं और लीक की समस्या से छुटकारा मिलेगी.

4 .सिर पर ऑलिव आयल की मालिश करने से जूँ एवं लिक से छुटकारा मिलती है.

5 .तुलसी के पत्तों को पीसकर पेस्ट बना लें इस पेस्ट को सिर पर लगाकर सूखने के लिए छोड़ दें. जब यह सूख जाए तो साफ पानी से बाल धो लें. साथ ही रात को सोने से पहले तकिए के नीचे तुलसी की कुछ पत्ते रखकर सोए इससे जूँ एवं लिक की समस्या से छुटकारा मिलेगी.

6 .दो अंडे को फ़ोड़कर उसमें तीन चम्मच सिरका और दो चम्मच नींबू का रस अच्छी तरह मिलाकर सिर पर लगाएं. इसे 30 मिनट तक लगा रहने दें. इसके बाद साफ पानी से धो लें. सप्ताह में इस प्रक्रिया को दो तीन बार करने से लिख से छुटकारा मिलता है.

Post a Comment

0 Comments