खाने से ज्यादा इस काम के लिए केले का इस्तेमाल करती हैं लड़कियां, जानकर चौंक जायेंगे

कल्याण आयुर्वेद- केले का सेवन हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है. इसलिए बहुत से लोग प्रतिदिन पका केला खाकर दूध पीते हैं तो कुछ लोग केले का बनाना शेक बनाकर पीते हैं और शरीर को स्वस्थ रखने में मदद लेते हैं.

खाने से ज्यादा इस काम के लिए केले का इस्तेमाल करती हैं लड़कियां, जानकर चौंक जायेंगे
आपको बता दें कि केला में विटामिन, आयरन और फाइबर भरपूर मात्रा में मौजूद होता है. जो हमारे शरीर के लिए बहुत लाभदायक होता है. केला में प्रचुर मात्रा में आयरन की मात्रा होने की वजह से इसका सेवन करने से शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा अच्छी रहती है. साथ ही इसके सेवन करने से शरीर में खून की मात्रा बढ़ कर शरीर को ताकत मिलता है. लेकिन आपको बता दें कि पहले के जमाने में महिलाएं केला खाकर स्वास्थ्य तो ठीक रखती ही थीं. लेकिन इस के छिलके को भी बेकार नहीं जाने देती थी. केले के छिलके का इस्तेमाल सौंदर्य प्रसाधन के रूप में किया करती थी.


आज के जमाने में अक्सर लोग केला खाकर केले के छिलके को फेंक देते हैं. लेकिन पहले के जमाने में केले के छिलके को महिलाएं दांतों को सफेद और चमकदार बनाने के लिए इस्तेमाल किया करती थीं. केले के छिलके में सिट्रिक एसिड पाया जाता है. जिससे दांत मोती जैसे चमकदार हो जाते हैं. इसके लिए केले के छिलके के सफेद भाग को कुछ देर के लिए दांतों पर रगड़ाकरती थी जिससे दांत प्राकृतिक रूप से चमकदार होते थे.


मुहांसों की समस्या से निजात पाने के लिए पुराने जमाने में महिलाएं केले के छिलके का इस्तेमाल किया करती थी. आपको बता दें कि केले के छिलके में एंटी ऑक्सीडेंट की शक्ति होती है यह मुहासे पैदा करने वाले विषाक्त पदार्थों से लड़ने में मददगार होता है और मुहांसे से छुटकारा दिलाता है. केले के छिलके में एंटीऑक्सीडेंट गुण मौजूद होता है जो त्वचा की सूजन से निजात दिलाने में भी लाभदायक होता है. इसके लिए सबसे पहले अपनी त्वचा को ठंडे पानी से धोकर पानी साफ तोलियों से पोछ\कर छिलके के सफेद भाग को 5 मिनट तक त्वचा पर रगड़ा करती थी और 20 मिनट बाद त्वचा को फिर ठंडे पानी से धो लेती थी. प्रतिदिन ऐसा करने से उनके चेहरे के मुहासे खत्म हो जाते थे.


आज के जमाने में चेहरे पर हुए दाग- धब्बों को हटाने के लिए बाजार में कई तरह के ब्यूटी प्रोडक्ट्स मिलते हैं.. लेकिन पुराने जमाने में ब्यूटी प्रोडक्ट नहीं के बराबर हुआ करता था इसलिए महिलाएं प्राकृतिक चीजों का इस्तेमाल कर दाग- धब्बों को हटाया करती थी. इसके लिए केले के छिलके से चेहरे के दाग- धब्बे हटाने के काम में लाया करती थीं.आपको बता दें कि केले के छिलके में विटामिन ए,, विटामिन बी विटामिन सी और विटामिन मौजूद होता है जो त्वचा के दाग- धब्बों को दूर करने में मददगार होता है. इसके अलावा केले के छिलके में एंटी ऑक्सीडेंट गुण मौजूद होते हैं जो त्वचा के काले धब्बों को हटाने में मददगार होते हैं. इसके लिए केले के छिलके के सफेद भाग को त्वचा पर 5 से 10 मिनट रगड़ कर पानी से चेहरा धो लिया करती थी. जिससे उनका चेहरा दाग- धब्बे रहित हो जाता था.


उम्र बढ़ने के साथ चेहरे पर व त्वचा पर झुर्रियां पड़ना आम बात हो जाती है. इसके लिए आजकल बाजार में कई तरह के ब्यूटी प्रोडक्ट्स उपलब्ध होते हैं. लेकिन पहले के जमाने में ऐसा नहीं था. इसलिए पहले झुर्रियों और लाइनों को दूर करने के लिए केले के छिलके का इस्तेमाल किया जाता था और महिलाएं केले के छिलके का इस्तेमाल कर झुर्रियों और लाइनों से निजात पाती थी. इसके लिए केले के छिलके के सफेद भाग को 10 से 15 मिनट तक त्वचा पर रगड़ कर आधे घंटे बाद गुनगुने पानी से चेहरा धो लिया करती थी. इस प्रकार नियमित केले के छिलके का इस्तेमाल कर झुर्रियों से निजात पा लिया करती थी.

Post a Comment

0 Comments