शादी के बाद तुरंत बच्चा नही चाहती तो अपनाएं ये घरेलू नुस्खा

कल्याण आयुर्वेद- कई कपल्स शादी के बाद तुरंत बच्चा नही चाहते हैं.या कई लोग एक बच्चे से दुसरे बच्चे में अंतर रखने के लिए अकसरे अनचाहे गर्भ से बचने के उपाय और तरीके अपनाते रहते हैं.इसके अलावा कई प्रेमी जोड़े बहककर आपसी मेल कर बैठते हैं और फिर प्रेग्नेंट नही होने के उपाय करते हैं.प्रेगनेंसी से बचने के लिए क्या करना चाहिए इसका सबसे सुरक्षित तरीका है. सुरक्षित संबंध बनाना.पर कई बारे प्रेगनेंसी से बचने के तरीके अपनाने के बाद भी लड़कियों को प्रेग्नेंट होने का टेंशन रहता है.क्योंकि कई बार कंडोम फटने की समस्या हो सकती है.इसके लिए महिलाएं अंग्रेजी दवाओं का इस्तेमाल करती हैं.लेकिन बिना कोई टेबलेट,इंजेक्शन लिए घरेलू नुस्खे के प्रयोग से अनचाहे गर्भ से बचा जा सकता है.

तो चलिए जानते हैं विस्तार से-

अभी बच्चा नही चाहिए तो क्या करें.
*अगर आप अभी बच्चा नही चाहती हैं तो सबसे पहले ओब्युलेषण का ध्यान रखें.महिलाओं की प्रजनन क्षमता इस समय अधिक होती है.इसलिए अनचाहे गर्भ से बचना है तो इस समय संबंध न बनायें.
*मासिक धर्म ख़त्म होने के बाद 5 से 9 दिन तक गर्भधारण करने का समय अच्छा होता है.इसलिए अनचाहे गर्भ से बचने के लिए संबंध नही बनाना चाहिए या प्रोटेक्शन लेना चाहिए.
गर्भधारण से बचने के उपाय-
1 .नीम-अगर आप अनचाहे गर्भ से बचना चाहती हैं तो नीम आपकी मदद कर सकता है.क्योंकि नीम शुक्राणु की गति को कम कर गर्भ ठहराने के खतरे को कम करता है.नीम के पत्ते,तेल या कैप्सूल गर्भनिरोधक के लिए प्रयोग किये जाते हैं.अगर गर्भवती होने की संभावना लगती है तो नीम की पत्ती चबाएं.
google-Copyright Holder: Kalyan ayurved
2 .पपीता-गर्भधारण से बचने के लिए कच्चा पपीता मददगार होता है.संबंध बनाने के बाद कच्चा पपीता खाने से गर्भधारण की संभवाना कम हो जाती है.इसके अलावा 3-4 दिन तक पपीता का जूस या कच्चा पपीता सेवन करते रहना चाहिए.
google-Copyright Holder: Kalyan ayurved
3 .अदरख-गर्भधारण से बचने के लिए अदरख की चाय नियमित पीना चाहिए.क्योंकि अदरख में रक्तस्राव करने के गुण होते हैं.इसलिए इसे प्राकृतिक गर्भनिरोधक के रूप में प्रयोग किया जाता है.
google-Copyright Holder: Kalyan ayurved
4 .हिंग-अनचाहे गर्भ से बचने के लिए हिंग मददगार होता है.इसके लिए हिंग को पानी में मिलाकर सेवन करना चाहिए.अगर गर्भ रूक गयी हो तो इसके ज्यादे मात्रा में पीने से बाहर आ जाता है.
google-Copyright Holder: Kalyan ayurved
5 .गाजर का बीज-अनचाहे गर्भ से बचने के लिए गाजर प्राकृतिक गर्भनिरोधक का काम करता है.इसके लिए गाजर के एक चम्मच बीज को रात में पानी में भिंगोकर सुबह चटनी की तरह खली पेट पीना चाहिए.
google-Copyright Holder: Kalyan ayurved
6 .अंजीर-अनचाहे गर्भ से बचने के लिए सुखी अंजीर रोजाना 2 से 4 पिस काना फायदेमंद होता है.क्योंकि इसके इस्तेमाल से रक्त प्रवाह अच्छा होता है.
google-Copyright Holder: Kalyan ayurved
7 .पुदीना-अनचाहे गर्भ से बचने के लिए पुदीना भी मददगार होता है.इसके लिए पुदीना की पत्ती को चटनी की तरह पीसकर पानी के साथ सुबह खाली पेट लेना फायदेमंद होता है.इसलिए गर्भवती महिला को पुदीना की चटनी अधिक मात्रा में नही खाने की सलाह दी जाती है.
google-Copyright Holder: Kalyan ayurved
यह पोस्ट आपकी जानकारी के लिए है.किसी भी प्रयोग से पहले डॉक्टर से सलाह लें.और यह जानकारी कैसी लगी कमेन्ट में जरुर बताएं.तथा लाइक शेयर करें जिससे किसी और तक यह जानकारी पहुच सके.धन्यवाद.
आयुर्वेद चिकित्सक-डॉ.पी.के.शर्मा.

Post a Comment

0 Comments