पीली सरसों है बड़ी काम की चीज, बना सकती है रंक को भी राजा ऐसे करें प्रयोग

ज्योतिष शास्त्र- पीली सरसों एक बहुत ही आम चीज है, जिसे हर घर में मसाले के रूप में इस्तेमाल किया जाता है. लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी की तंत्र विद्या में इसे विशेष स्थान दिया गया है. प्राचीन तंत्र शास्त्रों में पीली सरसों के कुछ ऐसे प्रयोग बताए गए हैं जो अचूक होते हैं और इस उपाय को करते ही तुरंत असर दिखने लगते हैं.




* अगर किसी व्यक्ति पर भूत-प्रेत आदि का साया है तो सरसों के कुछ दाने उसके ऊपर से उतार कर जला दें. सभी नकारात्मक शक्तियों का असर खत्म हो जाता है. आपने कई बार दादी- नानी को ऐसा करते देखा होगा कि बच्चे जब रोने- चिल्लाने लगते हैं तो उसके नजर उतारने के लिए कुछ मिर्च और सरसों लेकर उसके सिर से उतारकर आग में जलाते हैं.

* तीन अलग-अलग छोटे बर्तनों में तिल, साबुत धनिया तथा साबुत नमक मिलाकर अपने व्यापार स्थल पर रख दें इससे व्यापार में वृद्धि होने लगेगी ग्राहकों का साफ असर दिखने लगेगा.

* अगर कोई प्रबल शत्रु आपको बहुत परेशान कर रहा है तो पीली सरसों तथा तेल के दीपक में हल्दी डालकर उसके सामने बैठकर ॐ बगलाये नमः मंत्र का जप करें. ऐसा लगातार कुछ दिनों तक करने से बड़े से बड़ा शत्रु भी आपका पीछा छोड़ देगा और वह आपका मित्र की तरह व्यवहार करने लगेगा.

* सरकारी उद्योग या विभाग में कोई काम अटक गया है और काफी प्रयासों के बाद भी नहीं हो पा रहा है तो पीली सरसों को आक के दूध में मिलाकर हवन करें. आपको जल्दी ही अटकी काम से छुटकारा मिल जाएगा.

* अगर किसी कारण बस कोई दवा असर नहीं कर रही है और बीमारी बढ़ती ही जा रही है तो यह उपाय बहुत ही कारगर है. सरसों के तेल का दीपक जलाकर उसके सामने ऊँ ह्रौं जूं सः मंत्र की एक माला जप करें. लगातार 40 दिन तक इस प्रयोग को करने से दवाई काम करने लगती है और बीमार व्यक्ति सही हो जाता है.

* घर में कलेश रोकने के लिए पीली सरसों में गुड, शहद, गाय का घी, चंदन, गूगल, अगर, शिलाजीत, सलई की धूप तथा नगर मोथा मिलाकर हवन करें. ऐसा करने से घर की सभी बाधाएं दूर हो जाती है और प्रसन्नता का माहौल बन कर घर में सुख- समृद्धि बनी रहती है.

नोट- यह पोस्ट शैक्षणिक उद्देश्य से लिखा गया है, अधिक जानकारी और सही प्रयोग के लिए किसी योग्य ज्योतिषी की सलाह जरूर लें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments