इस एक गलती के कारण 90% लोगों को आता है बाथरूम में हार्ट अटैक, जरूर जानें सच्चाई

कल्याण आयुर्वेद- एक्सपर्ट्स के अनुसार अधिकतर लोगों को बाथरूम में हार्ट अटैक आ जाता है या ऐसे कहे कि बाथरूम ही हार्ट अटैक को जन्म देता है यह सुनकर आपके दिमाग में यह आ रहा होगा कि बाथरूम में ऐसा क्या है कि वहां सभी को हार्टअटैक आ जाता है. तो आज के इस पोस्ट में हम आपको इसी बारे में विस्तार से बताएंगे.

इस एक गलती के कारण 90% लोगों को आता है बाथरूम में हार्ट अटैक, जरूर जानें सच्चाई

तो आइए जानते हैं विस्तार से-

दरअसल ऐसा तब होता है जब भी हम अचानक सिर पर पानी डालते हैं तो सिर की नसें संकुचित यानी सिकुड़ जाती हैं. लगातार ऐसा करने से सिर की नसों इतनी ज्यादा सिकुड़ जाती है कि रक्त संचार रुक जाता है और परिणाम क्या होता है आप तो जानते हैं. तो चलिए अब जानते हैं नहाने का सही तरीका.

* नहाते समय सबसे पहले पैरों पर और उसके बाद धीरे-धीरे ऊपर की तरफ पानी डालते हैं. अंत में जब हमारा पूरा शरीर उस टेंपरेचर को ऐड कर लेता है तब सिर पर पानी डालना चाहिए.

उदाहरण के लिए अगर आप पैरों पर लगातार पानी डालते हैं तो इससे पैरों की नसें संकुचित हो जाती है तो पैर काम करना बंद कर देगा. किंतु उसका इलाज कराया जा सकता है. लेकिन अगर सिर के मामले में रक्त संचरण रुक जाए तो इसके कारण मौत भी हो सकती है.

इसलिए आप जब भी नहाए तो सबसे पहले अपने पैरों पर पानी डालें. सिर पर पहले पानी डालने की गलती ना करें.

आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट में जरूर बताइए और अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को लाइक तथा शेयर जरूर करें. धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments